• globalnewsnetin

अंतरात्मा की आवाज को सुनकर जजपा, निर्दलीय व भाजपा विधायक सरकार का साथ छोड़कर किसानों का दें साथ


चंडीगढ़, (अदिति) : हरियाणा कांग्रेस अध्यक्ष कुमारी सैलजा ने कहा कि कृषि विरोधी काले कानूनों को लेकर आज पूरे हरियाणा प्रदेश के किसान भाजपा सरकार के खिलाफ आंदोलनरत हैं। वह अपील करती हैं कि अपनी अंतरात्मा की आवाज को सुनते हुए जजपा, निर्दलीय व भाजपा के किसान हितैषी विधायक 'किसान-मजदूर विरोधी' हरियाणा की भाजपा सरकार का साथ छोड़कर इस निर्णायक लड़ाई में धरातल पर उतरकर किसानों का साथ दें। जिससे कि केंद्र की भाजपा सरकार पर इन कृषि विरोधी काले कानूनों को वापस लेने का दबाव बनाया जा सके। यह बातें हरियाणा कांग्रेस अध्यक्ष कुमारी सैलजा ने यहां जारी बयान में कहीं।

कुमारी सैलजा ने कहा कि जजपा की तरफ से कृषि कानूनों को लेकर आया बयान सिर्फ दिखावटी है। चुनाव से पूर्व भाजपा के खिलाफ वोट मांगकर 10 सीटें अर्जित करने वाली जजपा ने पिछले वर्ष भाजपा को अपना समर्थन देकर प्रदेशवासियों के साथ विश्वासघात किया था। जजपा के पास आज एक मौका है कि वह इस हरियाणा सरकार से अपना समर्थन वापस लेकर हरियाणावासियों के पक्ष में खड़ी हो और इस निर्णायक लड़ाई में किसानों का साथ दे। अपनी अंतरात्मा की आवाज को सुनकर सरकार को समर्थन दे रहे निर्दलीय विधायक भी हरियाणा सरकार से अपना समर्थन वापस लें और भाजपा विधायक भी हरियाणा सरकार का साथ छोड़कर किसानों का साथ दें।

कुमारी सैलजा ने कहा कि आज केंद्र और प्रदेश की भाजपा सरकार सत्ता के अहंकार में पूरी तरह से डूबी हुई है। भाजपा सरकार दिन रात सिर्फ अपने पूंजीपति मित्रों के बारे में सोचती है। देश के किसानों के साथ जब हरियाणा प्रदेश के किसान इस सरकार का षड्यंत्र पहचान चुके हैं और अपना हक मांग रहे हैं तो उन पर दमनकारी नीतियां अपनाकर अत्याचार किया जा रहा है। भाजपा द्वारा किसानों पर अभद्र टिप्पणियां कर उनका अपमान किया जा रहा है। आज पूरा हरियाणा प्रदेश भाजपा सरकार के खिलाफ किसानों के साथ खड़ा है।

कुमारी सैलजा ने कहा कि जिस तरह से आज अन्नदाता इस भाजपा सरकार के तमाम अत्याचारों को सहते हुए भीषण ठंड में खुली सड़कों पर आंदोलन कर रहा है। उसने हम सभी को झकझोर कर रख दिया है। आज किसानों को न्याय दिलाना ही हमारा परम कर्तव्य है। कांग्रेस पार्टी किसानों के संघर्ष की इस लड़ाई में उनके साथ मजबूती से खड़ी हुई है। कांग्रेस शासित प्रदेशों में इन काले कानूनों के खिलाफ किसानों के हितों की रक्षा करने के लिए नए कानून बनाए गए हैं। कांग्रेस पार्टी की सरकार बनने पर भाजपा सरकार द्वारा बनाए गए काले कानूनों को निरस्त कर दिया जाएगा।


 Global Newsletter

  • Facebook
  • social-01-512
  • Twitter
  • LinkedIn
  • YouTube