• globalnewsnetin

आईएएस अशोक खेमका ने किया ट्वीट- विधायकों की खरीद फरोख्त पर साथा निशाना


चंडीगढ़ (अदिति) हरियाणा के चर्चित आईएसएस अशोक खेमका ने ट्वीट करके लिखा- खरीद-फरोख्त जनता की सेवा के लिए तो नहीं होती

ऐसा जो करते हैं, वे किन सिद्धांतों का झंडा ऊँचा करते हैं? भ्रष्टाचार के खिलाफ लगातार आवाज उठाने वाले और 27 साल की नौकरी में 53 तबादलों के लिए चर्चित हरियाणा के सीनियर आईएएस अशोक खेमका ने भी राजस्थान की सियासी उठापटक पर सवाल उठाए हैं। खेमका ने बिना किसी का नाम लिए इशारों-इशारों में एक ट्वीट किया है। उन्होंने ट्वीट में लिखा है कि खरीद-फरोख्त जनता की सेवा के लिए तो नहीं होती, ऐसा जो करते हैं, वे किन सिद्धांतों का झंडा ऊँचा करते हैं?

राजस्थान में कांग्रेस के विधायकों की कथित ऑडियो जारी हो चुकी है, जिसमें खरीद-फरोख्त से जुड़ी बातें सामने आई थी। इस पर कांग्रेस पार्टी लगातार भाजपा पर विधायक खरीद-फरोख्त का आरोप लगाती रही है। अशोक खेमका ने भी इससे जुड़ा ही ट्वीट किया है। हालांकि उन्होंने किसी का नाम नहीं लिखा। बता दें कि खेमका अकसर राजनीतिक व सामाजिक मुद्दों पर ट्वीट करते रहते हैं। उनके ट्वीट इशारों-इशारों में होते हैं, यह ट्वीट भी उसी शैली में है, जिसमें राजस्थान की सियासी उठापटक पर बड़ा तंज कसा है।

आईएएस अशोक खेमका का अभी तक 53 बार तबादला हो चुका है। भाजपा से पहले कांग्रेस की हुड्‌डा सरकार में भी खेमका का 22 बार ट्रांसफर हुआ था। वह जिस भी विभाग में जाते हैं, घोटाले के मामले उजागर करते रहे हैं। खेल विभाग से पहले उन्होंने समाज कल्याण विभाग में फर्जीवाड़े की आशंका पर 3 लाख से ज्यादा बुजुर्गों की पेंशन रोक दी थी। इससे पहले बीज विकास निगम में भी घोटाला पकड़ा था। भाजपा सरकार के पहले और दूसरे कार्यकाल में खेमका का यह 7वां तबादला है। खेल मंत्री अनिल विज ने ही उन्हें खेल विभाग में लिया था।

कांग्रेस सरकार के कार्यकाल के दौरान 2012 में खेमका ने राबर्ट वाड्रा की कंपनी के डीएलएफ कंपनी के साथ हुए जमीनी सौदे को रद्द कर दिया था। इस मामले में आरोप था कि वाड्रा को सस्ती दर पर जमीन दी गई और उन्होंने महंगे रेट पर डीएलएफ को जमीन बेची है।

 Global Newsletter

  • Facebook
  • social-01-512
  • Twitter
  • LinkedIn
  • YouTube