• globalnewsnetin

ऊर्जा प्रबंधन में वेदांता एल्यूमिनियम ने जीते सीआईआई राष्ट्रीय पुरस्कार


चंडीगढ़, (अदिति)- :  देश में एल्यूमिनियम और मूल्य सवंर्धित उत्पादों के सबसे बड़े निर्माता वेदांता एल्यूमिनियम ने ऊर्जा प्रबंधन के क्षेत्र में उत्कृष्टता के लिए 21वें सीआईआई राष्ट्रीय समारोह में पांच पुरस्कार जीते। वर्चुअल समारोह का आयोजन 25 से 28 अगस्त, 2020 तक किया गया।

समारोह में बालको ने ऊर्जा के क्षेत्र में अनेक नवाचारों के लिए एक्सीलेंट एनर्जी इफिशिएंट यूनिटष् और इनोवेटिव प्रोजेक्टष् का पुरस्कार जीता। वेदांता लिमिटेड, लांजीगढ़ ने एल्यूमिना रिफाइनरी की ऊर्जा दक्षता में उत्तरोत्तर सुधार के लिए एक्सीलेंट एनर्जी इफिशिएंट यूनिट का पुरस्कार हासिल किया। वेदांता लिमिटेड, झारसुगुड़ा के दोनों स्मेल्टरों ने ऊर्जा की खपत कम करने की दिशा में महत्वपूर्ण सुधारों के लिए एनर्जी इफिशिएंट यूनिट पुरस्कार प्राप्त किए।

वेदांता लिमिटेड (एल्यूमिनियम एंड पावर) के मुख्य कार्यकारी अधिकारी श्री अजय कपूर ने कहा कि सीआईआई राष्ट्रीय पुरस्कार ऊर्जा की खपत कम करने की दिशा में किए जा रहे हमारे उत्कृष्ट प्रबंधन का द्योतक है। हम अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी तथा ग्रामीण विद्युतीकरण जैसे महत्वपूर्ण क्षेत्रों में राष्ट्र की आत्मनिर्भरता में योगदान के लिए उच्च गुणवत्ता के एल्यूमिनियम धातु का उत्पादन करते हैं। हम वैश्विक स्तर पर ऊर्जा दक्ष एल्यूमिनियम उत्पादक बनने के लिए कटिबद्ध हैं। वेदांता समूह सस्टेनिबिलिटी के क्षेत्र में अपने उत्तरदायित्वों के प्रति पूर्ण सजग है।  

सीआईआई द्वारा स्थापित पुरस्कार का उद्देश्य भारतीय उद्योगों को ऊर्जा दक्षता के क्षेत्र में नवाचार एवं विकासए ऊर्जा खपत में कमी एवं अत्याधुनिक कार्य शैली अपनाने की दिशा में प्रोत्साहित करना है। पुरस्कार प्रक्रिया में भागीदारी के लिए धातु, ऊर्जा, सीमेंट, इंजीनियरिंग, कागज, ऑटोमेशन आदि संबंधी लगभग 250 उद्योगों ने भागीदारी की। इनमें से 154 ज्यूरी राउंड के लिए चयनित किए गए। अंतिम रूप से चयनित प्रतिभागियों में वेदांता एल्यूमिनियम ने धातु एवं ऊर्जा क्षेत्र में महत्वपूर्ण कार्यों के लिए पुरस्कार प्राप्त किए।


वेदांता लिमिटेड की कंपनी वेदांता एल्यूमिनियम एंड पावर भारत की सबसे बड़ी एल्यूमिनियम उत्पादक इकाई है जहां वित्तीय वर्ष 2020 में देश की जरूरत का आधा भाग लगभग 1.9 मिलियन टन धातु प्रति वर्ष उत्पादित हुआ। यह निजी क्षेत्र में देश की सबसे बड़ी विद्युत उत्पादन इकाइयों में भी शामिल है। 

 Global Newsletter

  • Facebook
  • social-01-512
  • Twitter
  • LinkedIn
  • YouTube