top of page
  • globalnewsnetin

कचरे के डोर- टू- डोर कलेक्शन, ट्रांसपोर्टेशन और प्रोसेसिंग के लिए एजेंसी को दिया गया कार्य


हरियाणा सरकार ने पंचकूला जिले में सफाई व्यवस्था सुनिश्चित करने और कचरे के निस्तारण हेतु आगामी एक साल के लिए एजेंसी को कार्य दिया है। एजेंसी द्वारा कचरे के निपटान के लिए डोर- टू- डोर कलेक्शन, ट्रांसपोर्टेशन और प्रोसेसिंग की जाएगी। पंचकूला शहर से कचरा एकत्र कर अंबाला के पटवी में डाला जाएगा। यह निर्णय आज यहां मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में हुई हाई पावर्ड वर्किंग कमेटी में लिया गया। बैठक में शहरी स्थानीय निकाय मंत्री डॉ कमल गुप्ता भी उपस्थित थे।बैठक में बताया गया कि पंचकूला शहर में लगभग 70 हजार घरों से लगभग 200 टन प्रति दिन कचरा निकलने का अनुमान है।

श्री मनोहर लाल ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि कचरे के डोर- टू- डोर कलेक्शन सुनिश्चित करने के लिए वाहनों पर जीपीएस के साथ - साथ सभी घरों में आरएफआईडी लगाई जाए। इससे हर घर से कचरे का उठान सुनिश्चित होगा तो वहीं निगम के पास भी वास्तविक जानकारी उपलब्ध रहेगी और अधिकारी निगरानी रख सकेंगे। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि प्रदेश के किसी एक नगर निगम क्षेत्र में निगम अपने स्तर पर एक पायलट प्रोजेक्ट चलाए, जिसके तहत निगम के सफाई कर्मचारी कचरे का डोर- टू- डोर कलेक्शन करें।

शहरी स्थानीय निकाय मंत्री डॉ कमल गुप्ता ने कहा कि मुख्यमंत्री के नेतृत्व में राज्य सरकार पंचकूला को स्मार्ट सिटी बनाने के लिए प्रयासरत है। पंचकूला में ठोस कचरा प्रबंधन के लिए मुख्यमंत्री पहले ही विभिन्न स्थलों का दौरा कर चुके हैं, ताकि कचरे का सही तरीके से उठान तथा उसकी प्रोसेसिंग सुनिश्चित हो सके। शहरी स्थानीय निकाय मंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि डोर टू डोर कलेक्शन पर विशेष निगरानी रखी जाए।


बैठक में पंचकूला के मेयर श्री कुलभूषण गोयल, वित्त विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री अनुराग रस्तोगी, शहरी स्थानीय निकाय विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री अरूण गुप्ता, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव श्री वी उमाशंकर सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

0 comments

Comments


bottom of page