top of page
  • globalnewsnetin

कांग्रेस की सरकार बनते ही सबसे पहले लागू की जाएंगी किसानों से की गई 05 गारंटियां


सिरसा: अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की महासचिव, पूर्व केंद्रीय मंत्री, हरियाणा कांग्रेस की पूर्व प्रदेशाध्यक्ष एवं उत्तराखंड की प्रभारी एवं सिरसा लोकसभा सीट से कांग्रेस (इंडिया गठबंधन) की उम्मीदवार कुमारी सैलजा ने कहा कि हमारी सबसे बड़ी चिंता डर, धमकी और नफरत का मौजूदा माहौल है। पिछले दस वर्षों से हर वर्ग के लोग भय में जी रहे हैं। लोगों को डराने-धमकाने के लिए कानूनों और जांच एजेंसियों को हथियार बनाया जा रहा है। विभिन्न धार्मिक, भाषा और जाति समूहों के लोगों के बीच नफरत फैलाई है। भारत में लोकतंत्र खोखला होता जा रहा है। देश का अन्नदाता कमजोर होता जा रहा है, सरकार अनदेखी कर रही है ऐसा लगता है कि सरकार किसानों को बरबाद करना चाहती है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने किसानों के लिए 05 ऐसी गारंटियोंं की घोषणा की है और सरकार बनते ही सबसे पहले इन्हेंं लागू किया जाएगा। गांव बाजेकां और फूलकां में उन्होंने कहा कि क्षेत्र के जो भी स्थानीय मुद्दे है कांग्रेस की सरकार बनने पर आपस में मिल बैठकर विचार विर्मश के बाद हल किए जाएंगे।



कुमारी सैलजा ने शुक्रवार को सिरसा विधानसभा क्षेत्र के विभिन्न गांवों का दौरा करते हुए कांग्रेस के पक्ष में लोगों से मतदान करने की अपील की। उन्होंने सबसे पहले भगवान परशुराम चौक पर पहुंचकर भगवान श्री परसुराम की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर शीश नवाया।


उन्होंने गांव बाजेकां में सभा को संबोधित करते हुए कहा कि इस गांव से उनका पुराना नाता रहा है, जब 1988 में उन्होंने पिता के निधन के बाद उप चुनाव लड़ा था तो तत्कालीन कांग्रेस जिला प्रधान ठाकुर बहादुर सिंह, वरिष्ठ नेता, मंत्री चौ. जगदीश नेहरा, मंत्री लक्ष्मण दास अरोडा ने गांव गांव में जाकर लोगों से उनका परिचय करवाया था तभी से उनका यहां के लोगों से नाता हैं। उन्होंने कहा कि आज विचारधारा की लड़ाई है, भाजपा धर्म और जाति के नाम पर राजनीति कर लोगों के बीच खाई पैदा कर रही है, भाजपा का विकास से कोई लेना देना नहीं है वह विकास के केवल नारे ही  लगाती है, लोकतंत्र बचाने के लिए, गरीब, किसान, मजदूर, व्यापारी को बचाने के लिए ही कांग्रेस लड़ाई लड़ रहा है। उन्होंने कहा कि बेरोजगार युवा भटक रहा है उसकी सुनने वाला कोई नहीं है जिसने भी युवा शक्ति को नकारा है यह देश कभी तरक्की नहीं कर सका। युवा नशे की लत का शिकार हो गया है, सिरसा में नशा चरम पर है, शासन और प्रशासन नशे पर अंकुश लगाने के लिए कोई कारगर कदम नहीं उठा रहे है, नशा रोकने के लिए वैसे तो डबवाली को पुलिस मुख्यालय बना दिया है पर क्या नशा रूका है, आज भी जारी है, जब तक नशा तस्करों को संरक्षण देने वाला शिकंजा नहीं कसा जाएगा नशा नहीं रूकेगा, इसके लिए नेता, नीयत और नीति की जरूरत है, कांग्रेस सरकार आने पर प्रदेश को नशामुक्त किया जाएगा।  



महिलाओं के लिए केंद्र सरकार की आधी 50 प्रतिशत नौकरी आरक्षित की जाएगी



उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने महिलाओं को सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक रूप से मजबूत बनाने का वायदा किया है, कांग्रेस जो कहती है उसे पूरा करती भी है कांग्रेस के वायदे और घोषणाएं जुमले नहीं होते, आज भाजपा जुमलेबाज पार्टी हैं। उन्होंने कहा कि गरीब परिवार की महिला को बिना शर्त के एक लाख रुपये प्रतिवर्ष प्रदान करने के लिए महालक्ष्मी योजना की शुरुआत करने का संकल्प लिया है। यह राशि परिवार की महिला बुजुर्ग के बैंक खाते में भेजी जाएगी परिवार को बुजुर्ग महिला नहीं होने पर परिवार के सबसे बुजुर्ग सदस्य को खाते में राशि भेजी जाएगी।  महिलाओं को केंद्र सरकार की आधी 50 प्रतिशत नौकरी आरक्षित की जाएगी। महिलाओं को वेतन में होने वाले भेदभाव को रोकने के लिए समान काम समान वेतन का सिद्धांत लागू किया जाएगा। महिलाओं को दिए जाने वाले संस्थागत ऋण की मात्रा भी वृद्धि की जाएगी।



किसानों को दी गई पांच गारंटी सरकार बनते ही पूरी की जाएंगी


उन्होंने कहा कि कांग्रेस न्याय, युवा न्याय, महिला न्याय गारंटी का ऐलान कर चुकी हैं। किसानों के लिए कांग्रेस  05 ऐसी गारंटियां लेकर आई है जो उनकी सभी समस्याओं को जड़ से खत्म कर देंगी।  एमएसपी को कानूनी दर्जा दिया जाएगा और फसलों का भाव स्वामीनाथन के फार्मुला के अनुसार दिया जाएगा, कृषि सामग्रियों पर लगाया गया जीएसटी हटाया जाएगा, ऋण माफी की राशि के निर्धारण के लिए कृषि ऋण माफी आयोग का गठन किया जाएगा। कृषि उत्पादो की स्थिर कीमतों के लिए आयात निर्यात नीति बनाई जाएगी पीएम फसल बीमा योजना में बदलाव करते हुए  फसल नुकसान के लिए 30 दिन के भीतर किसानों के बैंक खाते में सीधा भुगतान किया जाएगा।  इस मौके पर उनके साथ पूर्व सांसद डा. सुशील इंदौरा, पूर्व मंत्री प्रो. संपत सिंह, पूर्व विधायक भरत सिंह बैनीवाल, पवन बैनीवाल, वीरभान मेहता, अमीर चावला, राजकुमार शर्मा, नवीन केडिया, राजन मेहता, राजेश चाड़ीवाल, कृष्णा फोगाट, प्रेम शर्मा, बूटा सिंह थिंद, गोपीराम चाडीवाल, जरनैल सिंह आदि मौजूद थे।

0 comments

Comments


bottom of page