top of page
  • globalnewsnetin

काम करना मेरी ड्यूटी है, मैं इसलिए यहां बैठा हूं ताकि लोगों की तकलीफों को दूर कर सकूं - अनिल विज


हरियाणा के गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री श्री अनिल विज ने कहा कि ‘काम करना मेरी ड्यूटी है, मैं इसीलिए यहां बैठा हूं, लोगों ने इसलिए मुझे बनाया हैं और पार्टी ने भी इसीलिए मुझे दायित्व सौंपा है ताकि मैं लोगों की तकलीफों को दूर करूं और आगे भी करता रहूं’।

यह बात गृह मंत्री अनिल विज ने कोरोना की वजह से जीवन खोने वाले स्व. डीएसपी अशोक कुमार दहिया की धर्मपत्नी कविता रानी और उनके बेटे अक्षय दहिया से कही। दरअसल, एक्स-ग्रेशिया नीति के तहत स्व. डीएसपी अशोक दहिया के बेटे को गृह मंत्री अनिल विज के प्रयासों से हरियाणा पुलिस में सब इंस्पेक्टर के पद पर नियुक्ति दी गई है और इसी का धन्यवाद करने के लिए कविता रानी व उनका बेटा अक्षय आज गृह मंत्री अनिल विज के आवास पर पहुंचे थे।


इस दौरान कविता रानी ने बताया कि पति की मृत्यु के बाद वह बेटे को एक्स-ग्रेशिया नीति के तहत नौकरी पर नियुक्त करने के लिए प्रार्थना लेकर आई थी। गृह मंत्री अनिल विज के पास वह बहुत आस लेकर पहुंचे थे क्योंकि उनके पास आने से पहले उनकी फाइल आगे नहीं बढ़ रही थी और कई आब्जेक्शन लग रहे थे। मगर गृह मंत्री अनिल विज के पास आते ही उनकी दिक्कत व परेशानियां दूर हो गई। उन्होंने कहा कि यह मामला एक मिसाल बना है और अब पुलिस अधिकारी व स्टाफ आगे बढक़र अपना काम करेंगे क्योंकि उनके परिवारों के प्रति गृह मंत्री अनिल विज का पूरा सहयोग है। कविता रानी ने कहा कि गृह मंत्री अनिल विज ने हमारे परिवार के लिए एक सहारा बनकर सहयोग दिया है जिसके लिए वह उनके बहुत आभारी हैं।

0 comments

Comments


bottom of page