top of page
  • globalnewsnetin

कृषि क्षेत्र में विकास के लिए अनुसंधान को बढ़ावा देगी सरकार : सीएम


हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने कहा कि परम्परागत खेती के बदलते स्वरूप के साथ नई तकनीक अपनाकर किसान आर्थिक उत्थान की ओर अग्रसर हो सकते हैं। इसी उद्देश्य के साथ सरकार कृषि क्षेत्र में अनुसंधान को बढ़ावा देने की दिशा में कारगर कदम उठा रही है,जिससे किसानों की आय में भी इजाफा होगा। मुख्यमंत्री मनोहर लाल शुक्रवार को पलवल जिला के गांव सिहौल में धानुका एग्रोटेक अनुसंधान एवं प्रौद्योगिकी केंद्र के उदघाटन उपरांत किसानो और कृषि विशेषज्ञों से सीधा संवाद कर रहे थे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आज उन्होंने पलवल जिला को दो बड़ी सौगात दी हैं जिनमें एक जल संरक्षण और दूसरी किसानों को नई तकनीक से खेती करने की दिशा में प्रेरित करेंगी। उन्होंने कहा कि स्वदेशी कंपनी धानुका किसानों के हित में काम कर रही है,जिससे किसानों की आय में निश्चित रूप से वृद्धि होगी। उन्होंने कहा कि परंपरागत खेती कई पहलुओं पर निर्भर करती है। किसान पहले नई तकनीकों से अवगत नही थे। लेकिन आज समय की मांग के अनुरूप खेती करने का समय है,लिहाजा कृषि क्षेत्र में अनुसंधान की सख्त जरूरत है। उन्होंने धानुका प्रबंन्धन को अनुसंधान और विकास केंद्र की शुरुआत पर बधाई देते हुए हरियाणा सरकार की ओर से हर जरूरी सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी। उन्होंने कहा कि पेस्टीसाइड बढ़ने से अन्न ज़हरीला हो रहा है और अनुसंधान केंद्र आज की आवश्यकता है । पानी ज़हरीला, अन्न का ज़हरीला होना, हवा का ज़हरीला होना मानवता के लिए ख़तरा है। इन खतरों से निपटने के लिए अनुसंधान केंद्र अपनी भूमिका निभाते हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि धान की जगह 3 एम- मूंग, मस्टर्ड और मक्का को सरकार तरजीह दे रही है। उन्होंने नवनिर्मित इस अनुसंधान केंद्र में कृषि क्षेत्र से जुड़ी 11 प्रकार की प्रयोगशाला बनाई गई है, जिनके माध्यम से किसानों को उन्नत किस्म की खेती करने में सहायता मिलेगी। प्रशिक्षण केंद्र से किसानों को लाभ मिलेगा ताकि वे अच्छी खेती कर सके। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार किसानों को बाग़वानी, मछली पालन, पशु पालन और अन्य विकल्पों के प्रति भी प्रोत्साहित कर रही हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि आज ड्रोन का प्रचलन लगातार बढ़ रहा है। खेती, खनन और ट्रैफ़िक को लेकर सरकार द्वारा दृश्य नामक कारपोरेशन बनाया गया है,जिसके चलते रचनात्मक कार्यों में ड्रोन का इस्तेमाल किया जाएगा,एतना ही नहीं ड्रोन के इस्तेमाल के लिए सरकार द्वारा ट्रेनिंग का भी प्रावधान किया जाएगा।

0 comments

Комментарии


bottom of page