• globalnewsnetin

कोरोना संक्रमित होने के बावजूद खट्टर लगे सरकार के पहिये दौड़ाने


राष्ट्रीय खेल दिवस में लिया भाग

चंडीगढ़ (अदिति) हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर कोरोना से संक्रमित होने के बावजूद अपना दायित्व बखूबी निभा रहे हैं। मुख्यमंत्री ने हॉकी के जादूगर मेजर ध्यानचंद की जयंती एवं राष्ट्रीय खेल दिवस के  अवसर पर बधाई दी और खिलाड़ियों का उत्साहवर्धन किया । मुख्यमंत्री आज खेल विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों की एक बैठक से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए जुड़े थे । इस बैठक में खेल एवं युवा मामलों के राज्यमंत्री श्री संदीप सिंह भी उपस्थित थे। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार का प्रयास है कि खेलों के क्षेत्र में हरियाणा पूरे देश में नंबर एक पर हो। उन्होंने कहा कि खिलाड़ियों को सुविधाएं देने के लिए सरकार लगातार प्रयासरत है। कोशिश की जा रही है कि ग्राम स्तर पर युवाओं को खेल सुविधाएं उपलब्ध करवाई जा सकें। इसी  के चलते ग्रामीण क्षेत्र से कई अंतरराष्ट्रीय स्तर की खेल प्रतिभाएं उभर कर सामने आई हैं। जिन्होंने पूरी दुनिया में देश का नाम रोशन किया है। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में खेल मंत्री संदीप सिंह ने मेजर ध्यानचंद जी की जयंती एवं राष्ट्रीय खेल दिवस पर सभी खिलाड़ियों व खेल प्रेमियों को बधाई देते हुए कहा कि केंद्रीय  खेल एवं युवा मामले राज्य मंत्री किरेन रिजिजू  जी के मार्गदर्शन एवं सहयोग से हरियाणा को दिए गए खेलो इंडिया 2021 के सफल आयोजन के लिए लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। पिछली बार असम के गुवाहाटी में आयोजित किए गए खेलो इंडिया के दौरान उन्होंने खुद वहां का दौरा करके परिस्थितियों का जायजा लिया था। ताकि हरियाणा में होने वाले आयोजन की सही ढंग से तैयारी की जा सके। उन्होंने कहा कि ट्राइसिटी चंडीगढ़ के आसपास मोहाली व पंचकूला में भी खिलाड़ियों के ठहरने की भरपूर व्यवस्था की जा सकती है। देशभर के खिलाड़ी खेलो इंडिया 2021 में भाग लेने के लिए पंचकूला  पहुंचेंगे। प्रयास है कि इस दौरान ने किसी भी तरह की असुविधा ना हो। उन्होंने सभी जिला खेल अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि जिन गेम्स में सुधार किया जा सकता है उन पर तुरंत काम शुरू किया जाए। अधिकारियों के लिए सभी खेल समान हैं किसी भी खिलाड़ी को उनके खेल के साथ भेदभाव महसूस नहीं होना चाहिए।  खेल मंत्री ने बताया कि ओलंपिक व पैरालंपिक्स की तैयारी के लिए खिलाड़ियों के सामने आने वाले आर्थिक खर्च की समस्या को दूर करने के लिए प्रदेश सरकार ने उन्हें चयन होने पर पांच लाख एडवांस देने की घोषणा  हाल ही में की है। खेल मंत्री ने कहा कि  सरकार के बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ  अभियान में  बेटी खिलाओ  को भी प्राथमिकता दी जा रही है । इसी के चलते पिछले दिनों  निर्णय लिया गया था कि महिला टीम के साथ कोच व मैनेजर दोनों महिलाएं ही  नियुक्त की जाएंगी  ताकि बाहर  खेलने जाते समय  महिला खिलाड़ी खुद को  असहज महसूस ना कर सकें। इस निर्णय का महिला खिलाड़ियों के साथ अभिभावकों ने भी स्वागत  किया। इस अवसर पर द्रोणाचार्य अवॉर्डी हॉकी कोच हरेंद्र सिंह ने भी खेलों को आगे बढ़ाने को लेकर अपने विचार सांझा किए।  उन्होंने कहा कि हरियाणा के खिलाड़ियों का मनोबल बेहद मजबूत है। जिन्होंने कोरोना काल के दौरान भी कड़ी मेहनत करते हुए अपनी प्रैक्टिस को प्रभावित नहीं होने दिया। ऐसा दृढ़ निश्चय रखने वाला खिलाड़ी हमेशा देश का नाम रोशन करता है।बैठक में खेल विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों एवं डीएसओ ने भाग लिया।

 Global Newsletter

  • Facebook
  • social-01-512
  • Twitter
  • LinkedIn
  • YouTube