• globalnewsnetin

कोविड -19 महामारी के दौरान सुरक्षा उपाय सख़्ती से अपना कर त्योहार मनाएं और पटाख़े चलाने से गुरेज़ कर


चंडीगढ़, (गुरप्रीत): पंजाब के सामाजिक सुरक्षा, महिला और बाल विकास मंत्री अरुणा चौधरी, खेल, युवा सेवाएं और प्रवासी भारतीय मामलों संबंधी मंत्री राणा गुरमीत सिंह सोढी और स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण और श्रम मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू ने आज पंजाब निवासियों से अपील की कि वह कोविड -19 महामारी के मद्देनजऱ सुरक्षा उपायों की सख़्ती से पालना करते हुये त्योहार मनाएं और बढ़ रहे हवा प्रदूषण के सम्मुख त्योहारों के दौरान पटाख़े चलाने से गुरेज़ करें।

यहाँ जारी सांझे बयान में कैबिनेट मंत्रियों ने कहा कि कोविड -19 महामारी के दौरान सुरक्षित त्योहार मनाना यकीनी बनाने के लिए हमें असाधारण स्वै-अनुशासन और संयम बरतने की ज़रूरत है। उन्होंने कहा कि सभी नागरिकों को कोविड-19 सुरक्षा प्रोटोकालों की सख़्ती से पालना करते हुये जि़म्मेदारी से त्योहार मनाना चाहिए। मंत्रियों ने कहा कि लोगों को भीड़ -भाड़ वाले स्थानों से दूर रह कर अपने घरों में ही अपने परिवारों के साथ त्योहार का आनंद मानना चाहिए और अगर उनको घर से बाहर जाने की ज़रूरत पड़ती भी है तो वह हर समय मास्क ज़रूर पहनें।

मंत्रियों ने कहा कि स्वास्थ्य प्रोटोकोलों के अनुसार कंटेनमैंट जोनों में त्योहार सम्बन्धी किसी समागमों की अनुमति नहीं है। कंटेनमैंट ज़ोनों से आने वाले प्रबंधकों /स्टाफ /मेहमानों को समागमों का हिस्सा बनने की अनुमति नहीं होगी। उन्होंने आगे कहा कि कंटेनमैंट जोनों में रहने वाले लोगों को अपने घरों में त्योहार मनाने के लिए उत्साहित किया जाये। उन्होंने 64 साल से अधिक आयु के बुज़ुर्गों, अन्य बीमारियों से पीडि़त व्यक्तियों, गर्भवती महिलाओं और 10 साल से कम आयु के बच्चों को घर के अंदर ही रहने की सलाह दी।

पंजाब निवासियों को पटाख़े चलाने से गुरेज़ करने की अपील करते हुये कैबिनेट मंत्रियों ने कहा कि दीवाली के मौके पर पटाख़े चलाने से प्रदूषण का स्तर, ख़ास करके सल्फर नाइट्रेट, मैग्नीशियम और नाईट्रोजन डाइऑक्साइड का स्तर कई गुणों बढ़ जाता है, जो हमारी साँस प्रणाली के लिए बहुत हानिकारक है और दमा, फेफड़ों के कैंसर और साँस लेने में तकलीफ़ जैसी गंभीर बीमारियों का कारण बन सकता है।

कैबिनेट मंत्रियों ने आगे कहा कि हवा प्रदूषण का स्तर देश में प्रदूषण की तय सीमा पार कर गया है, जो मानवीय शरीर के लिए हानिकारक है और ख़ास कर दमा और फेफड़ों की बीमारियों से पीडि़त लोगों को साँस लेने में बड़ी मुश्किलें पैदा कर रहा है।


पंजाब के मंत्रियों ने अपील की कि लोगों को सिफऱ् एफ.एस.एस.ए.आई. लायसेंसशुदा या रजिस्टर्ड दुकानों से ही मिठाईयों और अन्य खाद्य पदार्थ खरीदने को प्राथमिकता देनी चाहिए। लोगों को ऐसी वस्तुएँ, मियाद बीतने की तारीख़ देख कर ही खऱीदनी चाहीऐ हैं और रंगों वाली मिठाईयां खऱीदने से गुरेज़ करना चाहिए। कैबिनेट मंत्री ने कहा कि लोगों को घटिया खोये से बनी मिठाईयां नहीं खऱीदनी चाहिये और इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि सभी मिठाईयां अच्छी तरह और सुरक्षित ढंग से तैयार की हों। उन्होंने कहा कि ज़्यादा तले हुये भोजन पदार्थों ख़ास तौर पर फ्रोजऩ खाद-पदार्थों और घरों और दुकानों पर दोबारा इस्तेमाल किये तेल से बने पदार्थों से सख़्ती से परहेज़ करना चाहिए।

 Global Newsletter

  • Facebook
  • social-01-512
  • Twitter
  • LinkedIn
  • YouTube