• globalnewsnetin

घुटने के दर्द को घरेलू उपायों से मैन्इज किया जा सकता है : डॉ गुप्ता


चंडीगढ, (अभिनव कालरा ) : कोविड-19 महामारी के बीच, घुटने के दर्द से पीडि़त रोगी अपने दर्द को प्रभावी घरेलू उपायों से मैन्इज कर सकते हैं। ओजस सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल में आर्थोपेडिक्स एंड ज्वाइंट रिप्लेसमेंट के सलाहकार डॉ गगनदीप गुप्ता ने रविवार को कहा कि इस महामारी के कारण विभिन्न आयु वर्ग के लोग, जो घर पर हैं, तीन मुख्य कारणों से जोड़ों का दर्द, कमर दर्द, घुटने का दर्द आदि से पीडि़त हैं।

उन्होंने बताया कि घुटनों के दर्द का मुख्य कारण घर पर ओवरइग्ज़र्शन है, क्योंकि लोगों ने घर पर ऐसी गतिविधियां करनी शुरू कर दी है, जिनको करने की आदत उन्हें नहीं थी । उन्होंने कहा कि डोमेस्टिक हेल्प की अनुपलब्धता के कारण लोग लंबे समय से बागवानी व घर की सफाई खुद कर रहे है।

दूसरा कारण घर पर बेहिसाब गतिविधियों के कारण घुटने और टखने में चोट लगना है, डॉ गुप्ता ने कहा ।

घुटने के दर्द का तीसरा कारण ऑस्टियोआर्थराइटिस से पीडि़त बुजुर्ग है। फिजियोथेरेपी व रूटीन वॉकिंग उनकी मुख्य गतिविधियाँ होती हैं, जो अब रूटीन में नहीं हो पा रही हैं।

घरेलू उपायों के बारे में बात करते हुए डॉ गगनदीप गुप्ता ने बताया ओवरइग्ज़र्शन और चोट से संबंधित दर्द के लिए घरेलू उपचार तत्काल आराम है।उन्होंने कहा मरीज को लंबे समय तक गतिविधियों को करने से बचना चाहिए। यदि आराम से दर्द नहीं जाता, तो कुछ गर्म सेंक लगाना चाहिए । इसके अलावा आसानी से उपलब्ध पेन किलर दवा ,क्रेप बैंडेज व जैल एप्लीकेशन भी प्रयोग किए जा सकते हैं।

ज्यादा मुश्किल मामलों में, रोगी अपने परिवार के चिकित्सक, फिजियोथेरेपिस्ट या आर्थोपेडिक सर्जन से परामर्श कर सकते हैं।हालांकि ऑस्टियोआर्थराइटिस दर्द से पीडि़त रोगियों को इन सामान्य उपायों के साथ कुछ अतिरिक्त सावधानी बरतने की आवश्यकता हो सकती है, उन्होंने सलाह दी।

घुटने के दर्द वाले लोगों को बैठते वक्त, विशेष रूप से फर्श पर क्रॉस-लेग्ड नहीं बैठना चाहिए । उन्हें अनावश्यक रूप से सीढिय़ों पर नहींचढऩा चाहिए । प्रार्थना या किसी अन्य कार्य के लिए अपेक्षाकृत उच्च सतह पर बैठना चाहिए और यदि संभव हो तो इंडियन टॉइलट से बचे, डॉ गुप्ता ने बताया ं।

 Global Newsletter

  • Facebook
  • social-01-512
  • Twitter
  • LinkedIn
  • YouTube