top of page
  • globalnewsnetin

चंडीगढ़ पंजाब को वापिस सौंपा जाए: हरसिमरत कौर बादल


चंडीगढ़ (गुरप्रीत) : शिरोमणी अकाली दल की वरिष्ठ नेता बीबा हरसिमरत कौर बादल ने चंडीगढ़ को पंजाब को वापिस सौंपने की मांग करने के साथ साथ देश का पेट भरने वाले राज्य द्वारा किए गए बलिदानों के लिए विशेष पैकेज देने का आग्रह करते हुए निवेश को प्रोत्साहित करने के लिए सीमावर्ती इलाकों में कर लाभ देनेे की आवश्यकता पर जोर दिया।

संसद में केंद्रीय बजट पर बहस में भाग लेते हुए बठिंडा की सांसद ने कहा , ‘‘ देश के प्रत्येक राज्य की अपनी राजधानी है, जो इसकी जीडीपी में में 30 से 40 फीसदी योगदान देती है’’। उन्होने कहा कि पंजाब एकमात्र ऐसा राज्य है, जिसकी अपनी राजधानी नही है इसीलिए तुरंत स्थिति सुधार करने की मांग की।

बीबा बादल ने राज्य द्वारा देश के लिए बलिदान करने वाले राज्य के लिए विशेष पैकेज देने की मांग की है। उन्होेने कहा कि पंजाब सदियों से देश का अन्नदाता रहा है। उन्होने कहा, ‘‘ देश का पेट भरने के लिए हमने अपने भूजल के स्तर तक को कम कर दिया और 13 ब्लाॅकांें में से 117 को डार्क जोन घोषित कर दिया गया है। यहां तक कि केंद्रीय भूजल बोर्ड की 2019 की रिपोर्ट में भी कहा गया है कि पंजाब में अगले 17 साल के लिए पानी बचा है। उन्होने कहा कि राज्य के रेगिस्तान में तबदील होने का खतरा है। उन्होने कहा कि इस वजह से नुकसान की भरपाई करने के लिए राज्य को विशेष पैकेज दिया जाना चाहिए।

बीबा बादल ने कहा कि पंजाब इसीलिए भी पीड़ित है, क्योंकि ग्रामीण विकास कर लागू करने की आजादी के बावजूद केंद्र ने 3000 करोड़ रूपये के संचित ग्रामीण विकास कोष (आरडीएफ) को रोक दिया है और पंजाब को ब्लैकमेल कर रहा है कि अगर राज्य आरडीएफ चाहता है तो वह अपना कर कम कर दे।

0 comments

Comments


bottom of page