• globalnewsnetin

चिकित्सक शिक्षा एवं अनुसंधान मंत्री द्वारा विभिन्न श्रेणियों के 233 मुलाजि़मों को नियुक्ति पत्र जारी


नव-नियुक्त मुलाजि़मों में 219 स्टाफ नर्सें, 5 रेडीओग्राफर और 9 लैब टैक्रीशियन शामिल

चंडीगढ़, (गुरप्रीत): कोविड-19 के मद्देनजऱ पटियाला और अमृतसर मैडीकल कॉलेजों में स्टाफ नर्सों और अन्य मुलाजि़मों की कमी को पूरा करने के मंतव्य से चिकित्सक शिक्षा एवं अनुसंधान मंत्री श्री ओ.पी. सोनी द्वारा आज सैक्टर-7, चंडीगढ़ स्थित अपनी रिहायश में विभिन्न श्रेणियों के 233 मुलाजि़मों को नियुक्ति पत्र जारी किए गए, जिनमें 219 स्टाफ नर्सें, 5 रेडीओग्राफर और 9 लैब टैक्रीशियन शामिल हैं। 

इस सम्बन्धी और जानकारी देते हुए श्री सोनी ने बताया कि आज यहाँ 2 स्टाफ नर्सों को टोकन के तौर पर नियुक्ति पत्र दिए गए हैं, जबकि 217 स्टाफ नर्सों को नियुक्ति पत्र डाक द्वारा भेज दिए गए हैं। उन्होंने बताया कि स्टाफ की चयन केवल मेरिट के आधार पर की गई है, जिस सम्बन्धी लिखित परीक्षा बाबा फऱीद यूनिवर्सिटी द्वारा  ली गई थी।

उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री, पंजाब कैप्टन अमरिन्दर सिंह द्वारा कोविड-19 के मद्देनजऱ मैडीकल कॉलेजों और अस्पतालों में स्टाफ की कमी को जल्द से जल्द पूरा करने के दिशा-निर्देशों के अंतर्गत रेगुलर आधार पर यह भर्ती की गई है। नव-नियुक्त स्टाफ नर्सों में से करीब 119 को सरकारी मैडीकल कॉलेज, अमृतसर और 100 को सरकारी मैडीकल कॉलेज, पटियाला में तैनात किया जाएगा।

नव-नियुक्त स्टाफ नर्सों को मुबारकबाद देते हुए मंत्री ने कहा कि इलाज संबंधी सुविधाएं मुहैया करवाने में स्टाफ नर्सों की अहम भूमिका होती है और इन नव-नियुक्त स्टाफ नर्सों की तैनाती के साथ मैडीकल कॉलेजों / अस्पतालों में लोगों को मानक स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध करवाने में काफ़ी मदद मिलेगी।

उन्होंने कहा कि नव-नियुक्त स्टाफ नर्सों को नौकरी के साथ-साथ समाज सेवा करने का भी मौका मिल रहा है। इसलिए वह समाज के प्रति अपनी जिम्मदारी को समझते हुए और निजी तौर पर रूचि लेकर लोगों की सेवा करें। इससे जहाँ उनका समाज में रुतबा बढ़ेगा, वहीं स्वास्थ्य विभाग संबंधी लोगों का नज़रिया और बेहतर होगा।

इस मौके पर नव-नियुक्त स्टाफ नर्सों ने मुख्यमंत्री, पंजाब कैप्टन अमरिन्दर सिंह और चिकित्सक शिक्षा एवं अनुसंधान मंत्री श्री ओ.पी. सोनी जी का धन्यवाद करते हुए भरोसा दिलाया कि वह अपनी ड्यूटी पूरी तनदेही के साथ निभाएंगी। 

इसके उपरांत श्री सोनी द्वारा कोविड-19 के मद्देनजऱ सरकारी मैडीकल कॉलेज पटियाला, सरकारी मैडीकल कॉलेज अमृतसर और गुरू गोबिन्द सिंह मैडीकल कॉलेज और अस्पताल फऱीदकोट के प्रिंसिपल के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के द्वारा मीटिंग की गई, जिसमें इस महामारी से निपटने के लिए मैडीकल कॉलेजों में टेस्टिंग सामथ्र्य बढ़ाने, एमरजैंसी सेवाओं को और बेहतर करने समेत मरीज़ों को मुहैया की जा रही अन्य सुविधाओं की समीक्षा की गई। 

इस मौके पर सचिव चिकित्सक शिक्षा एवं अनुसंधान विभाग श्री डी.के. तिवाड़ी और डायरैक्टर चिकित्सक शिक्षा एवं अनुसंधान विभाग डॉ. अवनीश कुमार भी मौजूद थे।

 Global Newsletter

  • Facebook
  • social-01-512
  • Twitter
  • LinkedIn
  • YouTube