• globalnewsnetin

चंडीगढ़ के गांव वालों ने जैन को दिया अपना मांग पत्र


चंडीगढ़ (अदिति): चंडीगढ़ के विभिन्न गांवों के निवासियों एवं जिंमीदारों के प्रतिनिधिमंडल ने आज चंडीगढ़ के पूर्व सांसद और भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी समिति के सदस्य श्री सत्य पाल जैन से भेंट की तथा उन्हें अपनी मांगो का मेमोरेंडम दिया। गांव वालों ने मांग की कि जिंमीदारों की जमीन अधिग्रहण के लिये उचित मुआवजा देने वाला 2013 का कानून पूरी तरह से चंडीगढ़ में लागू किया जाये, चंडीगढ़ में बातचीत के माध्यम से मुआवजा देने की नीति को रद्द किया जाये, गांवों में अधिग्रहण की जा रही जमीन का मुआवजा ग्रामीण के बजाय शहर की जमीन के अनुरूप दिया जाये, उन्हें अपनी जमीन के इस्तेमाल में परिवर्तन करने की अनुमति दी जाये जिससे वह अपनी जमीन का उचित सदपयोग कर सके, 13 गांवों की जमीनों को “Capital of Punjab Act, 1952” के तहत आबादी दी देह मान कर माना जाये, तथा नगर निगम द्वारा 22-11-2013 को जो प्रस्ताव गांव को नगर निगम में शामिल करने के लिये पास किया था उसे प्रस्ताव में लिखित सभी शर्तो के साथ लागू किया जाये।

प्रतिनिधिमंडल ने श्री जैन को बतलाया कि समय के साथ चंडीगढ़ के सभी गांव शहरी बन चुके हैं परन्तु फिर भी गांव डडूमाजरा तथा सारंगपुर में उनकी जमीनों के अधिग्रहण करने का मुआवजा ग्रामीण आधार पर दिया गया है। उन्होंने कहा कि उन्हें अपनी जमीनों का इस्तेमाल कृषि के बजाय किसी ओर ढंग से इस्तेमाल करने की अनुमति दी जाये ताकि वह अपनी जमीनों का ओर अधिक सदपयोग कर सकें।

प्रतिनिधिमंडल ने श्री जैन को यह भी बतलाया कि 2013 में जब नगर निगम ने चंडीगढ़ के सभी गांवों को नगर निगम में शामिल करने का प्रस्ताव पास किया था तो उसमें कुछ शर्ते भी लगाई थी। जिनका बाद में पालन नहीं किया गया। उन्होंने मांग की इन सभी शर्तो का अक्षरसा पालन किया जाये।

श्री जैन ने प्रतिनिधिमंडल को आश्वासन दिया कि देश के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की नीति गरीब किसानों सहित समाज के सभी गरीब वर्गो को राहत देने की ही है। इसलिए वह गांव निवासियों के ज्ञापन को केन्द्रीय गृह मंत्रालय तथा चंडीगढ़ के प्रशासक को भेज कर आग्रह करेंगे कि प्रशासन के अधिकारी गांव निवासियों की मांगो पर अधिक सहानुभूतिपूर्वक तथा अधिक गंभीरता से विचार करें।

प्रतिनिधिमंडल में श्री कुलजीत सिंह संधू, पूर्व सरपंच, श्री साधु सिंह, पूर्व सरपंच, श्री दलिप कुमार, पूर्व सरपंच, श्री जोगिन्द्र सिंह, श्री गुरप्रीत सिंह सोमल, बाबा गुरदियाल सिंह, श्री सतिंदर सिंह, पूर्व पार्षद, श्री सतपाल गुप्ता आदि शामिल थे।

 Global Newsletter

  • Facebook
  • social-01-512
  • Twitter
  • LinkedIn
  • YouTube