• globalnewsnetin

जजपा से पहले इनेलो हरसिमरत कौर के इस कदम की सराहना कर बनाये नंबर


चंडीगढ़ (अदिति) हरियाणा में भारतीय जनता पार्टी के साथ गठबंधन सरकार बनाने वाली जजपा ने सुखबीर बादल के साथ कृषि अध्यादेश पर बैठक कर जहाँ सियासत में चर्चा शुरू कर दी थी वहीँ इनेलो ने केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर द्वारा मोदी मंत्रिमंडल से इस्तीफ़ा देने के कदम की सराहना कर अपने नंबर बना लिए हैं।

किसानों को लेकर जजपा द्वारा दिए जा रहे बड़े बड़े बयानों को खोखला करारा देते हुए इनेलो के प्रदेशाध्यक्ष राठी ने कहा कि देश में असली किसान नेता अगर कोई है तो वो सरदार प्रकाश सिंह बादल हैं जिनके आदेशानुसार सुखबीर बादल ने भाजपा के साथ गठबंधन होते हुए भी लोक सभा में इन कृषि अध्यादेशों का जमकर विरोध किया। और इतना ही नहीं उनकी पुत्रवधू ने उनके कहने पर विरोध स्वरूप केबिनेट मंत्री के पद से भी इस्तीफा दे दिया। इनेलो ने हरसिमरत कौर के इस कदम की सराहना करती है। उन्होंने कहा कि उनमें और उनके भाई, जो की सरकार में मंत्री हैं, में अगर थोड़ी सी भी शर्म बची है तो तुरन्त अपने मंत्री पद से इस्तीफा दें नहीं तो वो दिन दूर नहीं जब समय आने पर प्रदेश की जनता इनसे अपने आप इस्तीफा ले लेगी।

विशेष बात यह है कि चौटाला परिवार के साथ बादल परिवार के बहुत अच्छे सम्बन्ध हैं और दुष्यंत चौटाला के भाई ने जब सुखबीर बादल से मुलाकात की तो राजनीती में अलग चर्चा होने लगी परन्तु इनेलो ने हरसिमरत बादल और बादल परिवार की सराहना कर दुष्यंत चौटाला को चित करने का प्रयास किया है। हालाँकि बादल परिवार ने चौटाला परिवार को एक करने का प्रयास किया था परन्तु अब जिस प्रकार से चौटाला परिवार के दोनों दल बादल परिवार की राजनीती को भुनाने का प्रयास कर रहे हैं, उससे स्पष्ट है कि इन में खट्टास बढ़ गई है और दोनों के एक होने की संभावना कम है।

 Global Newsletter

  • Facebook
  • social-01-512
  • Twitter
  • LinkedIn
  • YouTube