• globalnewsnetin

तंदुरुस्त पंजाब मिशन के अंतर्गत ‘सुरक्षित पंजाब प्रोग्राम’ की की गई शुरूआत


प्रोग्राम का उद्देश्य राज्य में समग्र सडक़ सुरक्षा में सुधार लाना है

चंडीगढ़,(गुरप्रीत) : पंजाब में सडक़ सुरक्षा में और सुधार लाने के लिए तंदुरुस्त पंजाब मिशन के अंतर्गत पंजाब पुलिस और सेफ (सभी के लिए सुरक्षा) सोसाइटी के सहयोग के साथ ‘सुरक्षित पंजाब प्रोग्राम’ शुरू किया गया है।

तंदुरुस्त पंजाब मिशन के डायरैक्टर स. काहन सिंह पन्नू ने कहा कि इस प्रोग्राम का मुख्य उद्देश्य पंजाब में वैज्ञानिक ढंग से समग्र सडक़ सुरक्षा को बेहतर बनाना है।

उन्होंने बताया कि इस सम्बन्धी सभी हिस्सेदारों के दरमियान औपचारिक समझौता सहीबद्ध किया गया है। इस समझौते पर तंदुरुस्त पंजाब मिशन के डायरैक्टर स. काहन सिंह पन्नू, डा. शरद सत्य चौहान, आई.पी.एस., एडीजीपी (ट्रैफिक़) और श्री अरबाब अहमद, सेफ सोसाइटी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी द्वारा हस्ताक्षर किए गए हैं।

उन्होंने कहा कि इस प्रोग्राम का उद्देश्य सडक़ हादसों को घटाने के लिए ट्रैफिक़ प्रबंधन और सडक़ सुरक्षा के क्षेत्र में प्रतयक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से काम कर रहे सभी हिस्सेदारों और राज्य एवं केंद्र के विभागों के दरमियान विचार-विमर्श और तालमेल पैदा करना है। उन्होंने कहा, ‘‘सडक़ीय सुरक्षा एक बदलाव के पड़ाव से गुजऱ रही है। यह अनुभव आधारित ढंग-तरीकों से और ज्य़ादा तर्कशील और वैज्ञानिक ट्रैफिक़ प्रबंधन की तरफ बढ़ रही है।’’ इस मौके पर स. काहन सिंह पन्नू ने कहा कि ‘‘मैं इस बेहतरीन कदम के लिए और इस बदलाव को अपना कर पंजाब को देश भर में सबसे आगे चलने वाला राज्य बनाने के लिए पूरी टीम को बधाई देता हूँ।’’

‘सुरक्षित पंजाब प्रोग्राम’ सडक़ सुरक्षा में सुधारों के लिए रास्ता तैयार करने के लिए बढिय़ा विचारों, रणनीतियों और इन नीतियों को तेज़ी से लागू करने पर काम करेगा। डॉ. शरद सत्य चौहान, ए.डी.जी.पी. (ट्रैफिक़), पंजाब ने कहा, ‘‘पंजाब पुलिस राज्य में बेहतर संस्थागत ढांचे के द्वारा सडक़ सुरक्षा में सुधार के लिए वचनबद्ध है।’’

श्री अरबाब अहमद, सेफ सोसाइटी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी ने कहा कि पंजाब भारत का पहला राज्य है जो ट्रैफिक़ के कारण होने वाली मौतों को घटाने के लिए एक वैज्ञानिक और संस्थागत तंत्र अपना रहा है और उम्मीद है कि यह मौतों में कमी लाने वाला पहला राज्य बनेगा। इस प्रोग्राम में, माहिरों की टीम राज्य में सडक़ सुरक्षा, दुर्घटनाओं की जांच, ब्लैक स्पॉट्स की पहचान और इंजीनियरिंग दख़ल, सडक़ की डिज़ाइनिंग, दुर्घटनाओं के बाद के हालातों में सुधार और समूचे तालमेल के साथ जुड़ी बेहतर नीतियाँ और प्रक्रियाएं अपनाने में सरकार की सहायता करेगी।

पंजाब के मुख्यमंत्री के दिशा-निर्देशों पर अमल करते हुए इस सराहनीय कार्य के लिए मिशन डायरैक्टर, तंदुरुस्त पंजाब और एडीजीपी (ट्रैफिक़) द्वारा सिविल और पुलिस प्रशासन को इस प्राजैक्ट को सफल बनाने के लिए उनके सक्रिय सहयोग के लिए निर्देश दिए गए हैं और सभी के लिए मोटर वाहन केन्द्रित सडक़ डिज़ाइन से लोक समर्थकीय सडक़ डिज़ाइन बनाने के लिए कहा गया है।

सेफ के चेयरमैन श्री रुपिन्दर सिंह ने पंजाब सरकार के यत्नों की सराहना करते हुए कहा, ‘‘हम सरकार और अन्य हिस्सेदारों के साथ मिलकर काम करेंगे, जिससे पंजाब में ट्रैफिक़ के साथ होने वाली मौतों में कमी लाना यकीनी बनाया जा सके।’’ सेफ सडक़ सुरक्षा, ट्रांसपोर्टेशन, आर्किटेक्चर और सिविल इंजीनियरिंग के पेशेवरों की एक सोसाइटी है जो एक मिशन के साथ समाज के लिए कुछ करने के लिए आगे आ रही है।

पंजाब सरकार के ट्रैफिक़ सलाहकार डॉ. नवदीप असीजा ने कहा कि सडक़ दुर्घटनाओं की बहुपक्षीय प्रकृति के कारण, माहिरों ने मिलकर पंजाब में सुरक्षित व्यवस्था लाने के लिए कदम उठाए हैं।

 Global Newsletter

  • Facebook
  • social-01-512
  • Twitter
  • LinkedIn
  • YouTube