• globalnewsnetin

धान व अनाज की खरीद धीमी गति से होने से लाखों क्विंटल धान मंडी में सड़कों पर पड़ा है- बजरंग गर्ग


चंडीगढ़ (अदिति) हरियाणा प्रदेश व्यापार मंडल के प्रांतीय अध्यक्ष व अखिल भारतीय व्यापार मंडल के राष्ट्रीय महासचिव बजरंग गर्ग ने किसान व आढ़तियों से बातचीत करने के उपरांत कहा कि आढ़ती व मिलरों की हड़ताल खत्म होने के बावजूद भी धान व अनाज की खरीद व उठान धीमी गति से होने पर किसानों को धक्के खाने पड़ रहे हैं जबकि लाखों क्विंटल धान मंडियों में पड़ा हैं। सरकार को धान व अनाज की खरीद पोर्टल की बजाए पहले की तरह करनी चाहिए और धान का उठान सरकार को अपने व्यादे के अनुसार 24 घंटे के अंदर अंदर तुरंत प्रभाव से करना चाहिए। प्रांतीय अध्यक्ष बजरंग गर्ग ने कहा कि जो भी ट्रांसपोर्टर व सरकारी खरीद एजेंसी के अधिकारी अनाज खरीदने उठान मे देरी करे उसके खिलाफ सरकार को सख्त से सख्त कार्रवाई करनी चाहिए। जबकि 20 दिन से किसान धान बेचने के लिए मंडियों के चक्कर काट रहे हैं। मंडी व मंडियों के बाहर कई किलोमीटर सड़कों पर किसान का धान पड़ा है। धान की खरीद व उठान ना होने से किसानों को बड़ा भारी नुकसान का सामना करना पड़ रहा है। प्रांतीय अध्यक्ष बजरंग गर्ग ने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने आढ़तियों से व्यादा किया था की नरमा की खरीद आढ़तियों के माध्यम से होगी और उसका पुरा कमीशन आढ़तियों को मिलेगा मगर अब सरकार नरमा सीसीआई एजेंसी के माध्यम से करने की बात करके आढ़तियों के साथ धोखा कर रही है। जो सरासर गलत है। सरकार को अपने व्यादे के अनुसार नरमा की खरीद आढ़तियों के माध्यम से करनी चाहिए। सरकार कपास व अनाज की खरीद सरकारी एजेंसियों से करके व मंडियों में मार्केट फीस लगाने व मंडियों के बाहर मार्केट फीस माफ करके मंडियों को बर्बाद करने पर तुली हुई है और किसानों को बर्बाद करने के उद्देश्य से बड़ी-बड़ी प्राइवेट कंपनियों को सीधी किसान की फसल खेतों में खरीदने का जो नया कानून बनाया है वह सरासर  किसान विरोधी है। जिसे किसी कीमत पर सहन नहीं किया जाएगा। इसके विरोध में व्यापार मंडल व किसान संगठन व मजदूर देश व प्रदेश में अंदोलन कर रहे हैं और जब तक कृषि संबंधित अध्यादेश केंद्र सरकार वापस नहीं लेती आंदोलन जारी रहेगा।

 Global Newsletter

  • Facebook
  • social-01-512
  • Twitter
  • LinkedIn
  • YouTube