• globalnewsnetin

नकली शराब दुखांत के पीडि़त परिवारों के लिए मुआवज़ा राशि बढ़ाकर 5 लाख रुपए करने का ऐलान


पीडि़त परिवारों के लिए 2.92 करोड़ रुपए का चैक तरन तारन के डिप्टी कमिश्नर को सौंपा

चंडीगढ़ /तरन तारन, (ग्लोबल न्यूज़) :नकली शराब के दुखांत से प्रभावित हुए परिवारों को दिलासा देते हुए पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने आज पीडि़त परिवारों के लिए मुआवज़ा राशि 2 लाख रुपए से बढ़ाकर 5 लाख करने का ऐलान किया है। मुख्यमंत्री ने तरन तारन का दौरा करके जि़ले के पीडि़त परिवारों के साथ अपनी हमदर्दी ज़ाहिर की। इस मौके पर उन्होंने कहा कि इस संगीन जुर्म के दोषियों को किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जायेगा और उनके विरुद्ध सख़्त कार्यवाही की जायेगी। परिवारों के साथ बातचीत के दौरान मुख्यमंत्री ने ऐलान किया कि इस त्रासदी में जिन पीडि़तों की आँखों की रौशनी चली गई, उनको भी 5-5 लाख रुपए की वित्तीय सहायता मिलेगी। मुख्यमंत्री ने 92 पीडि़त परिवारों की सहायता के लिए तरन तारन के डिप्टी कमिश्नर को 2.92 करोड़ रुपए का चैक सौंपा। कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने स्पष्ट शब्दों में कहा कि इस बेरहम जुर्म के लिए जि़म्मेदार लोगों को बख्शा नहीं जायेगा, चाहे वह कितने ही प्रभाव-रसूख वाले क्यों न हों।

मुख्यमंत्री ने कहा कि इस मामले की जांच पहले ही चल रही है और डी.जी.पी. दिनकर गुप्ता को इस जांच में तेज़ी लाने की हिदायत की गई है। इन मौतों को कत्ल करार देते हुए कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने साफ़ तौर पर कहा कि इस घृणित जुर्म के दोषी रहम के हकदार नहीं हैं क्योंकि यह दुखांत मानव की देन है। कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने कहा कि दोषियों को मिसाली सज़ाएं देने के लिए इन मामलों की ज़ोरदार ढंग से पैरवी करने के लिए विशेष पैरवी टीमें तैनात की जाएंगी। उन्होंने कहा कि इस अक्षम्य अपराध के लिए जि़म्मेदार लोगों की जायदादें भी ज़ब्त की जाएंगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि यह राज्य सरकार का फज़ऱ् बनता है कि दोषियों को सख़्त सज़ाएं दिलाई जाएँ जिससे भविष्य में दूसरों को सबक मिल सके। इस मौके पर संवेदीनशील मुद्दे पर राजनीति से परहेज़ करने की ज़रूरत पर ज़ोर देते हुए कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने दुख की इस घड़ी में रोजग़ार देने, शिक्षा और सामाजिक सुरक्षा लाभ मुहैया करवाकर पीडि़त परिवारों की सहायता करने के लिए अपनी सरकार की वचनबद्धता को दोहराया।

इससे पहले अपने संबोधन में पंजाब कांग्रेस के प्रधान सुनील जाखड़ ने कहा कि अकाली-भाजपा गठजोड़ ने राज्य में शराब माफीये के पैर पसारने में सरपरस्ती की और इसी कारण यह दुखांत बड़े स्तर पर घटा है। श्री जाखड़ ने कहा कि यह दुखांत आपराधिक लापरवाही का निष्कर्ष है और इस जुर्म के दोषियों को मिसाली सज़ा मिलकर रहेगी।

इस मौके पर उपस्थित शख़्िसयतों में पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रधान सुनील जाखड़, खडूर साहिब से लोकसभा मैंबर जसबीर सिंह गिल (डिम्पा), कैबिनेट मंत्री सुखबिन्दर सिंह सरकारिया, मुख्यमंत्री के मुख्य प्रमुख सचिव सुरेश कुमार, पंजाब स्टेट वेयरहाऊसिंग कॉर्पोरेशन के चेयरमैन और विधायक राज कुमार वेरका, विधायक रमनजीत सिंह सिक्की, संतोख सिंह भलाईपुर, हरमिन्दर सिंह गिल, सुखपाल सिंह भुल्लर और इन्दरबीर सिंह बुलारिया के अलावा तरन तारन के डिप्टी कमिश्नर कुलवंत सिंह और अन्य शामिल थे।

 Global Newsletter

  • Facebook
  • social-01-512
  • Twitter
  • LinkedIn
  • YouTube