• globalnewsnetin

नड्डा के समक्ष गूंजा गुर्जर नाम


चंडीगढ़ (अदिति) हरियाणा में भारतीय जनता पार्टी को नयाअध्यक्ष मिलने में अब चंद पल ही बाकि दिखाई पड़ते हैं। भाजपाके राष्‍ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के समक्ष एक ही नाम गूंज रहा हैऔर वो है गुर्जर-गुर्जर-गुर्जर। कृष्ण पल गुर्जर के पक्ष में अबहरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ही नहीं बल्कि कईदिग्गज नेता आगे आये हैं। श्री खट्टर ने औपचारिकता वश फीडबैक तो लिया परन्तु माना जा रहा है कि श्री गुर्जर को पार्टीप्रदेशाध्यश की जिम्मेदारी देने का भाजपा हाईकमान ने मन बनालिया है और वह केंद्रीय मंत्रिमंडल का हिस्सा भी बने रहेंगे।

सूत्र बताते हैं कि इस बार भाजपा हाईकमान ने श्री खट्टर को खुली छूट दी कि वह अपनी पसंद का प्रदेशाध्यक्ष नियुक्त करवा लें।इसी के बाद

हरियाणा भाजपा को नया अध्यक्ष के चयन को लेकर हलचल तेजहो गई । बताया जा रहा है कि हरियाणा भाजपा को नया अध्यक्ष अगले सप्ताह की शुरूआत में मिल जाएगा। लॉकडाउन के कारणकरीब तीन माह बाद दिल्ली पहुंचे मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने भाजपा के राष्‍ट्रीय अध्‍या जेपी नड्डा से मुलाकात की और उन्‍होंने नए प्रदेश भाजपा के बारे में नेताओं के फीडबैक दिया। इससे पहले उन्‍होंने प्रदेश भाजपा प्रधान की नियुक्ति केे बारे में चाणक्यपुरी स्थित स्टेट गेस्ट हाउस में भाजपा नेताओं सहित संघ के पदाधिकारियों से प्रदेश अध्यक्ष पद के लिए फीडबैक लिया।

श्री नड्डा से मुलाकात के लिए मुख्यमंत्री अकेले ही सुरक्षाकर्मियों के  साथ पार्टी मुख्यालय पहुंचे। यहां करीब आधे घंटे तक दोनों के बीच बातचीत हुई। प्रदेश अध्यक्ष को लेकर दिल्ली और राज्य केनेताओं के बीच चल रही कशमकश को दूर करते हुए मुख्यमंत्री नेनड्डा के समक्ष अपने मन की बात भी रख दी। वैसे तो सीएम ने नड्डा से मिलकर अपनी पसंद के प्रदेश अध्यक्ष का नाम दे दिया है मगरअभी भी जब तक नए अध्यक्ष की घोषणा नहीं हो जाती तब तक संभवत: मनोहर लाल पार्टी नेताओं के साथ फीडबैक कीऔपचारिकता करते रहेंगे। नए अध्यक्ष की घोषणा अगले सप्ताह की शुरूआत में इसलिए हो सकती है कि 27 व 28 जून कोवर्तमान अध्यक्ष के घर में वैवाहिक कार्यक्रम हैं।

मुख्यमंत्री मनोहर लाल चाणक्यपुरी स्टेट गेस्ट हाउस पहुंच गए थे। यहां पहले से ही विश्व हिंदू परिषद की राष्ट्रीय प्रबंधन समिति के सदस्य दिनेश कुमार मौजूद थे। दिनेश कुमार और सीएम के बीचकरीब दो घंटे तक वार्ता चली। इसके बाद पार्टी के राष्ट्रीय नेताओंके संपर्क में रहने वाले दो गैर राजनीतिक लोग भी सीएम से मिले। इनके बाद मुख्यमंत्री से मिलने पूर्व केंद्रीय मंत्री बीरेंद्र सिंह पहुंचे।करीब एक घंटे की मुलाकात के बाद बाहर आए बीरेंद्र सिंह नेमीडिया को बताया कि सीएम ने उनके साथ नए प्रदेश अध्यक्ष कोलेकर खुलकर चर्चा की है। उन्होंने सीएम को ऐसा प्रदेश अध्यक्ष बनाने का सुझाव दिया है जो युवा और किसान वर्ग को जोड़कर पार्टी संगठन को मजबूत कर सके।

बीरेंद्र सिंह मानते हैं कि विधानसभा चुनाव नतीजों के बाद हरियाणा  भाजपा को सशक्त करने वाले नेता को ही प्रदेश अध्यक्ष की जिम्मेदारी दी जानी चाहिए। इसी बीच यह खबर भी आई कि प्रदेश प्रभारी और राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ.अनिल जैन से कुछ विधायकों औरजिलाध्यक्षों ने यह भी मांग की है कि प्रदेश अध्यक्ष पद पर किसी ऐसे नेता को नहीं बैठाया जाए जिसने मनोहर सरकार पार्ट-एक में अहम पद पर रहकर उनके फोन तक नहीं उठाए।

प्रदेश अध्यक्ष के लिए केंद्रीय राज्यमंत्री कृष्णपाल गुर्जर का नाम खूब चर्चा में आते ही गुर्जर के नाम पर मुख्यमंत्री की भी सहमतिबताई जाती है मगर खुद गुर्जर चाहते हैं कि उन्हेंं पंजाब में विजय सांपला की तर्ज पर मंत्री रहते हुए प्रदेश अध्यक्ष की जिम्मेदारी दी जाए। गुर्जर के अलावा अब पूर्व वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु, पूर्वकृषि मंत्री ओमप्रकाश धनखड़, विधायक महीपाल ढांडा, प्रदेशमहामंत्री संदीप जोशी, पलवल के विधायक दीपक मंगला के नामभी प्रदेशाध्यक्ष के लिए चर्चा में हैं। मुख्यमंत्री से मिलने के बाद पूर्व केंद्रीय मंत्री बीरेंद्र सिंह का कहना था कि कृष्णपाल गुर्जर भीकाफी अनुभवी और व्यवहारकुशल नेता हैं।

 Global Newsletter

  • Facebook
  • social-01-512
  • Twitter
  • LinkedIn
  • YouTube