• globalnewsnetin

नौजवान रोजगार शुरू करने के लिए कर्ज कल्याण स्कीमों का लाभ उठाएं-साधु सिंह धर्मसोत


वर्ष 2020-21 के दौरान लाभपात्रीयों को 1127.75 लाख रुपए का कर्ज बाँटने का लक्ष्य निश्चित किया

पिछड़ी श्रेणियों और कमजोर वर्गों का आर्थिक स्तर ऊँचा उठाना मुख्य मनोरथ

चंडीगढ़, (गुरप्रीत): पंजाब के सामाजिक न्याय, अधिकारिता और अल्पसंख्यक मंत्री स. साधु सिंह धर्मसोत ने कहा है कि राज्य के नौजवान अपना आर्थिक विकास करने के लिए राज्य सरकार द्वारा चलाई जा रही कर्ज क्ल्याण स्कीमों का अधिक से अधिक लाभ उठाएं।

स. धर्मसोत ने जानकारी देते हुए बताया कि राज्य सरकार द्वारा राज्य की पिछड़ी श्रेणियों और कमजोर वर्गों के नौजवानों का आर्थिक स्तर ऊँचा उठाने के लिए पंजाब पिछड़ी श्रेणियों भूमि विकास और वित्त निगम (बैकफिंको) के अंतर्गत विभिन्न स्कीमें चलाई जा रही हैं, जिनके अंतर्गत नौजवानों को सस्ती दरों पर कर्ज मुहैया करवाए जाते हैं, जिनके साथ प्रशिक्षण प्राप्त नौजवान अपने पेशे शुरू करके अपना आर्थिक विकास कर सकते हैं। इसके अलावा बैकफिंको द्वारा उच्च शिक्षा के लिए भी कर्जे मुहैया करवाए जाते हैं।

स. धर्मसोत ने बताया कि बैकफिंको द्वारा वर्ष 2020-21 के दौरान एन.बी.सी. स्कीम अधीन 751 लाभपात्रीयों को 1127.75 लाख रुपए का कर्ज बाँटने का लक्ष्य निश्चित किया गया है। इसके अंतर्गत जून, 2020 तक 38 लाभपात्रीयों को 61.20 लाख रुपए के कर्जे दिए जा चुके हैं।

उन्होंने बताया कि पिछड़ी श्रेणियों के लिए एजुकेशन लोन का प्रबंध भी किया गया है। इस स्कीम के अंतर्गत पढ़ाई करने के लिए 4 प्रतिशत ब्याज की दर पर कर्ज दिया जाता है। लड़कियों के लिए ब्याज की दर 3.5 प्रतिशत वार्षिक है। कर्जे की अदायगी कोर्स खत्म होने के 6 महीने बाद मासिक किश्तों में 5 वर्षों में की जाती है। विदेशों में पढ़ाई के लिए 20 लाख रुपए तक का कर्ज मुहैया करने का उपबंध भी किया गया है। 

स. धर्मसोत ने बताया कि बैकफिंको द्वारा प्रत्यक्ष कर्ज स्कीम के अंतर्गत 6 प्रतिशत की ब्याज दर पर अधिक से अधिक 2 लाख तक का कर्ज मुहैया करवाया जाता है। उन्होंने बताया कि यह कर्ज डेयरी फार्मिंग (3-5 पशु), पोल्ट्री फार्मिंग, सब्जियां उगाना, मधुमक्खी पालन के लिए, कारपैंटरी /फर्नीचर /लौहार का काम, आटा चक्की /कोहलू, ऑटो रिक्शा (पैसंजर /ढुलाई), जनरल स्टोर (किराना /कैटल /पोल्ट्री फीड), हार्डवेयर स्टोर (सैनेटरी और बिल्डिंग मैटीरियल, लोहा आदि), कपड़ा / रेडिमेड गारमैंट शॉप, किताबें /स्टेशनरी की दुकान, फोटो स्टेट मशीन, टेलरिंग, कृषि के यंत्रों के लिए (फेब्रिकेशन), आटो मोबाइल रिपेयर /स्पेयर पार्टस शॉप, ईलेक्ट्रोनिक्स /इलैक्ट्रिकल सेल और रिपेयर, फेब्रिकेशन यूनिट, फोटोग्राफी और वीडीयोग्राफी, हौजरी यूनिट, स्मॉल स्केल इंडस्ट्रियल यूनिट (कोई भी समान बनाने का कारोबार), स्वीट शॉप /ढाबा, ब्यूटी पार्लर और पंडाल या शामियाना सर्विस आदि पेशे शुरू करने के लिए लिए जा सकता है। 

स. धर्मसोत ने बताया कि बैकफिंको से कर्ज लेने के लिए मुख्य योग्यताओं को पूरा करना जरूरी है। उन्होंने बताया कि उम्मीदवार पंजाब का स्थायी निवासी हो, उसकी उम्र 18 से 55 वर्ष तक होनी चाहिए। पंजाब सरकार द्वारा घोषित पिछड़ी श्रेणी या भारत सरकार द्वारा घोषित अल्पसंख्यक वर्ग से सम्बन्ध रखता हो। वार्षिक पारिवारिक आय ग्रामीण इलाकों और शहरी इलाकों के लिए 3 लाख से कम होनी चाहिए। उन्होंने बताया कि 50 प्रतिशत कर्जे पिछड़ी श्रेणियों के उन आवेदकों को दिए जाएंगे जिनकी वार्षिक पारिवारिक आय 1.5 लाख रुपए तक होगी। यदि कोई व्यक्ति कर्ज टैक्निकल पेशे के लिए लेना चाहता है तो कम-से-कम मैट्रिक पास जरूर हो। उन्होंने बताया कि जो नौजवान पेशामुखी प्रशिक्षण प्राप्त हैं, को पहल दी जायेगी। 

 Global Newsletter

  • Facebook
  • social-01-512
  • Twitter
  • LinkedIn
  • YouTube