top of page
  • globalnewsnetin

पंजाब में बेमिसाल बदलाव के साथ शिक्षा क्रांति की शुरुआत हुई; मुख्यमंत्री


नई दिल्ली, : सिंगापुर में प्रशिक्षण लेने के बाद वापस लौटे 36 प्रिंसिपल्स के पहले बैच का स्वागत करते हुए पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने शनिवार को कहा कि प्रिंसिपल्स को बेहतरीन वैश्विक शिक्षा तकनीकों से लैस करने के लिए किए गए इस बेमिसाल बदलाव से राज्य में शिक्षा क्रांति के नए युग की शुरुआत हुई है।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल की हाजिऱी में प्रशिक्षण से लौटे इन प्रिंसिपल्स के साथ संवाद करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि इन प्रिंसिपल्स के तजुर्बों से विद्यार्थियों को उनकी रुचियों के मुताबिक भविष्य के लिए तैयार करने में मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि राज्य के लिए यह ऐतिहासिक दिन है क्योंकि यह प्रिंसिपल्स विद्यार्थियों को मानक शिक्षा देने के लिए एक प्रेरक के तौर पर काम करेंगे। भगवंत मान ने कहा कि राज्य सरकार ने इस कार्यक्रम की शुरुआत जहाँ एक तरफ़ राज्य में शिक्षा प्रणाली की कायाकल्प करने के उद्देश्य से की, वहीं दूसरी ओर इससे विद्यार्थियों का भविष्य रौशन होना सुनिश्चित बनेगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कैबिनेट द्वारा विद्यार्थियों को विदेश में प्रशिक्षण के लिए दी गई मंज़ूरी के मद्देनजऱ राज्य सरकार द्वारा यह अपनी तरह की पहली पहल है। इस पृथक प्रयास संबंधी बात करते हुए उन्होंने कहा कि जब भी नई नीति पेश होती है तो विरोध की आवाज़ उठती है, परन्तु वह राज्य के हित में कोई भी फ़ैसले लेने में कोई गुरेज़ नहीं करेंगे। भगवंत मान ने कहा कि वह अध्यापकों की बुनियादी समस्याओं से अच्छी तरह वाकिफ़ हैं, क्योंकि वह एक अध्यापक के बेटे हैं। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार अध्यापकों की सेवाएं अध्यापन के अलावा अन्य किसी काम के लिए नहीं लेगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि उनको केंद्र सरकार से पत्र मिला कि अध्यापकों की ड्यूटी जनगणना के लिए लगाई जाए, परन्तु उन्होंने इसको सिरे से नकार दिया और कहा कि इस काम के लिए अन्य शिक्षित नौजवान लगाए जाएँ। उन्होंने कहा कि इससे जहाँ नौजवानों को रोजग़ार का अवसर मिलेगा, वहीं विद्यार्थियों के लिए मानक शिक्षा सुनिश्चित बनेगी। ‘तजुर्बे उम्र के साथ आएं’ के मुहावरे का हवाला देते हुए भगवंत मान ने कहा कि हम अन्यों के तजुर्बों से लाभ लेने की कोशिश कर रहे हैं, क्योंकि पिछली सरकारों की लापरवाही के कारण पंजाब पहले ही शिक्षा के क्षेत्र में पिछड़ा हुआ है।

0 comments

Commentaires


bottom of page