top of page
  • globalnewsnetin

प्रदेश का अमृत काल का पहला बजट होगा पेश


चंडीगढ़ (अदिति)- हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि केंद्र सरकार की तर्ज पर हरियाणा सरकार भी प्रदेश के लिए अमृत काल का पहला बजट पेश करेगी। हमारा प्रयास ऐसा लोकतांत्रिक बजट बनाना है जिससे प्रदेश में सबकी भागीदारी से सर्वांगीण विकास हो। वर्ष 2023-24 के राज्य के आम बजट में किसानों, मजदूरों, उद्योगों, स्वास्थ्य सेवाओं को सुदृढ़ करने सहित अंत्योदय परिवारों के आर्थिक व सामाजिक उत्थान पर फोकस किया जाएगा। यह बजट हर वर्ग के कल्याण के लिए होगा।

मुख्यमंत्री हरियाणा निवास में सभी मंत्रियों व विभागों के प्रशासनिक सचिवों के साथ बजट पूर्व परामर्श बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। बैठक में पिछले वर्ष के बजट घोषनाओं पर भी समीक्षा की गई। बैठक के दौरान हाल ही में पेश हुए केंद्रीय बजट में महत्वपूर्ण परियोजनाओं से भी हरियाणा को अधिक से अधिक लाभ मिले, इस बारे में भी चर्चा की गई।

श्री मनोहर लाल ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के भारतीय अर्थव्यवस्था को पांच ट्रिलियन डॉलर इकॉनोमी बनाने के विजऩ को प्राप्त करने में हरियाणा अपना पूरा योगदान देगा। इसके लिए हर सेक्टर में ग्रोथ बढ़ाने की जरूरत है। इसी कड़ी में लघु, सूक्ष्म एवं मध्यम उद्योगों को बढ़ावा दिया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा पेश किए गए केंद्रीय बजट के अनुरूप हरियाणा के बजट में भी सभी वर्गों के हितों का ध्यान रखा जाएगा। केंद्र सरकार द्वारा जिन नई योजनाओं को बजट में शामिल किया गया है, इन योजनाओं को अमलीजामा पहनाने के लिए प्रदेश सरकार विशेष ध्यान देगी। राज्य के बजट में शिक्षा, स्वास्‍थ्य, रोजगार, महिला कल्याण सहित अंत्योदय उत्‍थान पर विशेष बल दिया जाएगा। इसके साथ-साथ ढांचागत विकास पर भी ध्यान दिया जाएगा, नये-नये उद्योग लगेंगे और रोजगार के अवसर बढ़ेंगे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि उपलब्ध जल के समुचित वितरण व संचयन से जुड़ी परियोजनाओं पर तेजी से कार्य किया जाएगा। इसके अलावा, सूक्ष्म सिंचाई को बढ़ावा दिया जाएगा। केंद्र सरकार के विजन के अनुरूप सभी जरूरतमंदों के सिर पर छत मुहैया करवाने के उद्देश्य से चल रही परियोजनाओं को तीव्र गति से पूरा किया जाएगा।

बैठक के उपरांत मीडिया से बातचीत करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्ष 2023-24 का राज्य का बजट सभी वर्गों के कल्याणार्थ होगा। बजट में वंचितों को वरीयता देते हुए उनके कल्याण के लिए अधिक योजनाओं को क्रियान्वित करने पर बल दिया जाएगा।

उन्होंने कहा कि केंद्रीय बजट में आरआरटीएस के 2 प्रोजेक्ट के लिए वित्त पोषण की घोषणा की गई है, उसमें से लगभग 3600 करोड़ रुपये का हरियाणा को लाभ होगा। इसी प्रकार, हर मेडिकल कॉलेज के साथ नर्सिंग कॉलेज स्थापित करने के बारे में भी बैठक में चर्चा की गई।

उन्होंने कहा कि आगामी दिनों में अन्य हितधारकों के साथ भी बजट पूर्व बैठकें की जाएंगी, जिसके बाद उनके सुझावों को शामिल कर एक अच्छा व संतुलित बजट पेश किया जाएगा। 20 फरवरी को हरियाणा विधानसभा का बजट सत्र आरंभ होगा।

इस अवसर पर उपमुख्यमंत्री श्री दुष्यंत चौटाला, स्वास्थ्य मंत्री श्री अनिल विज, स्कूल शिक्षा मंत्री श्री कंवर पाल, परिवहन मंत्री श्री मूलचंद शर्मा, कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री जयप्रकाश दलाल, सहकारिता मंत्री डॉ बनवारी लाल, शहरी स्थानीय निकाय मंत्री डॉ कमल गुप्ता, विकास एवं पंचायत मंत्री श्री देवेंद्र सिंह बबली, महिला एवं बाल विकास राज्य मंत्री श्रीमती कमलेश ढांडा और श्रम राज्य मंत्री श्री अनूप धानक मौजूद रहे। इनके अलावा, मुख्य सचिव श्री संजीव कौशल, मुख्यमंत्री के मुख्य प्रधान सचिव श्री डी एस ढेसी, गृह विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री टीवीएसएन प्रसाद, वित्त विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री अनुराग रस्तोगी, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव श्री वी उमाशंकर, मुख्यमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव डॉ अमित अग्रवाल समेत सभी विभागों के प्रशासनिक सचिव उपस्थित रहे।

0 comments

Comments


bottom of page