• globalnewsnetin

प्रशिक्षण कार्यकर्ता के साथ पार्टी के विकास में निभाता है अहम भूमिका : विनोद तावड़े


कुरुक्षेत्र, (ग्लोबल न्यूज़) हरियाणा भाजपा प्रभारी विनोद तावड़े ने कहा कि प्रशिक्षण कार्यकर्ता के साथ पार्टी के विकास में अहम भूमिका निभाता है। कार्यकर्ता को प्रशिक्षण के साथ व्यक्तित्व विकास के लिए भी मूल्यांकन करना चाहिए। व्यक्तित्व विकास जीवन को अधिक सफल, प्रभावी, कार्यक्षम व अर्थपर्ण बनाता है। व्यक्तित्व विकास सफल जीवन का मंत्र है क्योंकि विकास एक निरंतर प्रक्रिया है। इससे ही हमारा सामाजिक एवं राजनीतिक जीवन अर्थपूर्ण बनता है।

हरियाणा प्रभारी शुक्रवार को सैनी समाज भवन में आयोजित दो दिवसीय मंडलाध्यक्षों के प्रशिक्षण शिविर के समापत्र सत्र को संबोधित कर रहे थे। तावड़े ने व्यक्तित्व विकास विषय पर अपना संबोधन दिया। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में मजबूत और निष्पक्ष नेतृत्व महत्वपूर्ण है। इसलिए व्यक्तित्व विकास बेहद जरूरी है, तभी सफल राजनेता बनने के गुणों व विशेषताओं का एहसास होगा। व्यक्तित्व विकास में एजुकेशन यानि शिक्षा का महत्व है, इससे विशुद्ध रूप से कार्य करने की क्षमता आती है तो अनुशासन, स्वयंप्रेरणा, एकाग्रता, कृति, भावना, ईमानदारी व सत्यनिष्ठा, नयापन व रोचकता तथा परोकार का भाव पैदा होता है। कार्यकर्ता संगठन मजबूती के लिए छोटी बैठकों का आयोजन करें और जनसमस्याओं को प्राथमिकता दें। इससे आमजन तक भाजपा की नीतियों पहुंचेंगी और संगठन का स्तंभ मजबूत होगा।

बूथ स्तर तक लेकर जाएं नीतियां : मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने वर्चुअल के जरिये कार्यकर्ताओं से सीधा संवाद किया। उन्होंने कार्यकर्ताओं को आह्वान किया कि वे सरकार की उपलब्धियों को लेकर जनता के बीच में जाएं, जनता को उपलब्धियों के बारे में जानकारी दें तथा उन्हें इन योजनाओं का लाभ मिले इसका भी प्रबंध करें। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में नौकरियों, रजिस्ट्रियों में पारदर्शिता व योग्यता को बढ़ावा दिया गया है। अब युवा किताबों को पढऩे पर मजबूर हो गए हैं। उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार किसी भी कीमत पर स्वीकार नहीं किया जाएगा। प्रदेश में जीरो टोलरेंस से काम किया है और आगे भी करेंगे, किसी से किसी प्रकार का कोई भेदभाव नहीं किया जाएगा, अढ़ाई करोड़ जनता सरकार का परिवार है।

कार्यकर्ता को निरंतर सीखने के साथ रहना होगा अपडेट : धनखड़

भाजपा प्रदेशाध्यक्ष ओमप्रकाश धनखड़ ने कहा कि प्रशिक्षण के जरिये कार्यकर्ता नए तौर-तरीके सीखता है, मगर उसे अपडेट रहने की भी जरूरत है। सोशल मीडिया के जरिये सरकार की योजनाओं को आमजन तक आसानी से पहुंचानी जा सकती है। जिस तरह चुनाव जीतने के लिए बूथ स्तर पर कार्यकर्ता पार्टी को मजबूती देता है, उसी तर्ज पर सरकार की नीतियों पहुंचाने की संरचना बनाई जाए। उन्होंने कहा कि सांस्कृतिक राष्ट्रवाद भारत के लिए एकात्म मानववाद विश्व के सामने एक मात्र रास्ता है, जिससे मानवता की सेवा की जा सकती है। भाजपा इसी रास्ते पर आगे बढ़ रही है।

कोरोना काल में भी गरीबों को मिला योजनाओं का लाभ : अन्नपूर्णा

प्रदेश सह प्रभारी अन्नपूर्णा का कहना था कि केंद्र की मोदी सरकार के अंत्योदयी प्रत्यनों का परिणाम था कि कोविड-19 महामारी में भी गरीब से गरीब व्यक्ति तक राशन, नकद राशि एवं गैस सिलेंडर पहुंचा। पिछले छह वर्षों में मोदी सरकार की हर कल्याणकारी योजना के केंद्र में गरीब, महिला, एवं युवा रहे, जिसके कारण करोड़ों परिवारों को सस्ते दर पर राशन, दवा, बीमा, मुफ्त गैस सिलेंडर, पक्के मकान, पांच लाख तक मुफ्त इलाज, पेंशन योजना, कौशल विकास एवं रोजगार के अवसर के साथ-साथ अनेक योजनाओं का लाभ पहुंचा।

अंत्योदय के सपने को भाजपा ने किया पूरा : कृष्ण बेदी

पूर्व मंत्री एवं मुख्यमंत्री के राजनीतिक सचिव कृष्ण बेदी ने कहा कि अंत्योदय के सपने को भाजपा ने साकार करने का काम किया है। पिछले छह साल में अंतिम व्यक्ति तक योजनाओं का लाभ पहुंचा है। मोदी सरकार ने गरीबों, पिछड़ों, दलितों, वंचितों, शोषितों के विकास और उनके उत्थान के लिए अनेक योजनाएं चलाई हैं। गरीबों किसानों की आदमनी दोगुने करने के लक्ष्य से 10 करोड़ से अधिक किसानों को 90 हजार करोड़ से ज्यादा राशि भेजी गई है। आयुष्मान भारत के तहत 1.25 करोड़ से अधिक लाभार्थी हैं। इसके साथ ही वन नेशन वन राशन कार्ड योजना से लेकर जल जीवन मिशन व अटल पेंशन योजना की शुरूआत की गई है।

स्थानीय उत्पादों के लिए स्वतंत्र भारत की सोच होनी चाहिए मुखर : शेरा

जिला प्रभारी सत्यवान शेरा ने आत्मनिर्भर भारत के साथ राष्ट्रीय सुरक्षा विषय पर अपना व्यक्तव्य दिया। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार के सत्ता में आने के बाद भारत की रक्षा और सुरक्षा प्रतिमान को मजबूत आधार मिला है। इस दौरान पाकिस्तान व चीन ने जब भी कोई दुसाहस किया, इन दोनों देशों को भारत की कड़ी जवाबी कार्रवाई का सामना करना पड़ा। उन्होंने कहा कि स्थानीय उत्पादों को बढ़ाने के लिए हर देशवासी को आगे आना होगा, तभी लोकल फॉर वोकल का नारा सफल हो पाएगा। उत्पादन के मामले में मेक इन इंडिया की पहल को बढ़ावा दिया गया है, जिससे हथियारों व अन्य सैन्य सामग्री की एक सूची जारी की गई, जिसमें इन चीजों के आयात पर एक वर्ष के लिए प्रतिबंध लगा दिया गया है।

 Global Newsletter

  • Facebook
  • social-01-512
  • Twitter
  • LinkedIn
  • YouTube