• globalnewsnetin

बंद हो रहे बजट स्कूलों को राहत प्रदान करे सरकार- कुलभूषण शर्मा


चंडीगढ़ (अदिति) : फेडरेशन ऑफ प्राइवेट स्कूल्स वेलफेयर एसोसिएशन के प्रदेशाध्यक्ष और निसा के राष्ट्रीय अध्यक्ष कुलभूषण शर्मा ने कहा कि हरियाणा सरकार 2007 से पूर्व चल रहे प्राइवेट स्कूलों को तुरंत एग्जिस्टिंग स्कूलों की लिस्ट में शामिल करें व भूमि मानक तथा अन्य शर्तों में राहत प्रदान कर तुरंत मान्यता दे ताकि वह भी शिक्षा की मुख्यधारा में शामिल हो और बिना डर के अपने स्कूलों का संचालन कर सके। कुलभूषण शर्मा ने कहा कि हरियाणा में सैकड़ों ऐसे स्कूल है जो वर्षो से शिक्षा के कार्य मे लगे हैं और सरकार द्वारा जारी फॉर्म को वर्षो से भर कर व एम आई एस पोर्टल पर अपनी सभी सूचनाएं सरकार को प्रदान कर रहे है सरकार ने दो बार एग्जिस्टिंग स्कूलों की सूची भी जारी की परंतु विभागीय अधिकारियों की कमी के कारण सैकड़ों स्कूल जो existing स्कूलों की सूची में शामिल होने चाहिए थे, उन्हें उस सूची में शामिल नही किया ।

जिस कारण यह स्कूल अपनी मान्यताओं की फ़ाइल नही लगा पाए व हर साल इन पर बंद की तलवार लटका कर इन्हें तंग किया जाता रहा है। कुलभूषण शर्मा ने कहा की पिछले वर्ष फरवरी में निदेशालय के उच्च अधिकारियों द्वारा सरकार के आदेशों पर बैठक में इस मुद्दे पर आश्वाशन दिया गया कि जिन स्कूलों के मामले शिक्षा अधिकारियों द्वारा स्तुति करके निदेशालय को भेजे गए हैं उन सब स्कूलों की सूची शीघ्र ही घोषित और प्रकाशित कर दी जाएगी ताकि वे मान्यता के अपने आवेदन कर सकें।

गुरुग्राम के जिला अध्यक्ष दिनेश जोशी ने कहा कि अकेले गुरुग्राम से 50 से अधिक स्कूलों के नाम जिला शिक्षा अधिकारी द्वारा अनुशंसा कर निदेशालय को भेजा गया है जो सालो से अपना नाम लिस्ट में शामिल होने का इंतजार कर रहे हैं और इनमें से अधिकांश स्कूल महिलाओं द्वारा संचालित किए जा रहे हैं। इन स्कूलों का नाम शीघ्र लिस्ट में शामिल नही किया गया तो यह स्कूल बंद हो जायेंगे जिससे इनके आगे अपने परिवार की भरण पोषण की समस्या तो खड़ी होगी ही हज़ारों महिलाएं जो अध्यापक के रूप में इनमे कार्यरत है वह भी बेरोजगार हो जाएंगी। अतः सरकार से अनुरोध है की निदेशालय में शिक्षा अधिकारियों के पास लंबित पड़ी एग्जिस्टिंग स्कूलों की लिस्टों को तुरंत जारी कर इन सैकङो स्कूलों को राहत प्रदान करे सरकार।

 Global Newsletter

  • Facebook
  • social-01-512
  • Twitter
  • LinkedIn
  • YouTube