top of page
  • globalnewsnetin

भाखड़ा में से अस्सी हज़ार क्यूसिक पानी छोड़ा जा रहा है


भाखड़ा डैम को लेकर बड़ी खबर सामने आई है जिसकी जानकारी बी.बी.एम.बी. के सचिव सतीश सिंगला ने सांझी की है। पिछले दिनों हो रही भारी बारिश के चलते पानी का स्तर बढ़ गया है। उन्होंने बताया कि 7 क्यूसिक पानी पौंग डैम में आया। पौंग डैम से 1.40 लाख पानी छोड़ रहे हैं। पौंग डैम का लेवल 1398 फीट है। उन्होंने कहा कि कंट्रोल के तरीके से पानी छोड़ा जा रहा है। सतीश सिंगला ने बताया कि भाखड़ा से रोपड़ नवाशहर, गुरदासपुर होशियारपुर, तरनतारन, अमृतसर और फिरोजपुर तक पानी जाता है।

बी.बी.एम.बी. ने कहा कि भाखड़ा डैम में 1 लाख 93 हजार क्यूसेक पानी भाखड़ा डैम में रिसीव हुआ है। भाखड़ा के 4 गेट हैं। भाखड़ा के फ्लड गेट 8 फीट खोले गए हैं। अगले 5 दिनों तक फ्लड गेट खुले रहेंगे। भाखड़ा में सुबह 6 बजे 1 लाख 93 क्यूसेक पानी हो गया था। आज भाखड़ा क लेवल 1677 पर है। डैम को कोई खतरा नहीं है। आगामी 4-5 दिनों के अंद कंट्रोल करके स्थिति को सुरक्षित कर लिया जाएगा। सारे गेट एक ही लेवल पर खोले जाते हैं। उन्हें स्पिलवे रखना पड़ता है। भाखड़ा डैम से इस समय 80,000 पानी छोड़ा गया है। भाखड़ा डैम खतरे के निशान से 3 फीट दूर है। निचले क्षेत्रों में खतरा बरकरार है।

बी.बी.एम.बी. के सचिव सतीश सिंगला ने कहा कि पानी छोड़ने से पहले प्रशासन को अलर्ट किया जाता है। जिन इलाकों में खतरा होता है उन्हें खाली करवाए जाने के निर्देश जारी कर दिए जाते हैं। 24 घंटे पहले प्रशासन को सूचित किया जाता है। पंजाब अथॉरिटी को सूचित करने के बाद ही पानी छोड़ा जाता है। वह सरकार के साथ तालमेल बनाकर ही फैसला लेते हैं। ।अगर स्थिति तनावपूर्ण है तो वह उसे कंट्रोल कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि अगर अगस्त के आखिर या सितंबर में फ्लड के हालात बनते हैं तो उनके पास जगह हो और निचले इलाकों को सुरक्षित किया जा सके। इस समय डेराबस्सी, नंगल, होशिारपुर, गुरदासपुर जिले पानी की मार झेल रहे हैं।


हर बात बात कम्युनिटी पुलिसिंग की होती है जिसको लेकर यह कहा जाता है कि अगर पुलिस समाज में लोगों के साथ मिलकर चलें तो क्राइम भी ना हो कुछ ऐसा ही उदाहरण सेट किया है sho जुलदान ने। जो कम्युनिटी पुलिसिंग को लेकर ना सिर्फ लोगों के भी जा रहे हैं बल्कि आज उनकी तरफ से मीठे पानी की छबील भी लगाई गई थी इसके साथ साथ लोगों के साथ वार्तालाप भी किया गया।

Comentarios


bottom of page