• globalnewsnetin

भाजपा -जजपा सरकार को खुली चुनौती


चंडीगढ़ (अदिति): वरिष्ठ कांग्रेस नेता और भारतीय राष्ट्रीय कॉंग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने खट्टर सरकार द्वारा 10 सितम्बर को कुरुक्षेत्र में होने वाली ‘मंडी बचाओ, किसान बचाओ’ रैली को विफल करने के लिए किसान नेताओं को धरपकड़ करने की कड़ी निंदा की है।

कुरुक्षेत्र रैली के एक दिन पहले किसान नेताओं की ग़ैरक़ानूनी धर-पकड़ से खट्टर सरकार का किसान-आढती-मज़दूर विरोधी चेहरा फिर उजागर हो गया है। उन्होंने कहा कि पीपली मंडी, कुरुक्षेत्र को पुलिस छावनी में तबदील कर दिया गया है और सभी आढ़ती भाईयों को दुकान बंद करने के नोटिस दिए जा रहे हैं। खट्टर-चौटाला सरकार जान लें की तीनों अध्यादेशों के ख़िलाफ़ हम मिल कर निर्णायक लड़ाई लड़ेंगे। 

सुरजेवाला ने कहा कि आज एक बार फिर खट्टर सरकार ने अपना जाबर-जालिम असली चेहरा दिखा ही दिया।तीन अध्यादेश से मंडी, व्यापारी, आढ़ती और किसान खत्म हो जाएंगे। 

किसान यूनियन के प्रधान गुरनाम सिंह चढूनी के घर पर नोटिस लगा दिया गया। इसी प्रकार जींद जिले के जिले सिंह दनौदा की गिरफ्तारी के लिए पुलिस उनके घर पर रेड की गयी, हिसार जिले के अंदर विकास सीसर के घर पर नोटिस चिपकाया गया है। यमुनानगर जिले के किसान यूनियन के नेता हरपाल सिंह का सुबह से कोई अता-पता नहीं है। 

मुख्यमंत्री को सम्बोधित करते हुए उन्होंने कहा की खट्टर साहब, इस कायरतापूर्ण कार्यवाही का कारण क्या है? क्या आप ‘किसान बचाओ, मंडी बचाओ’ रैली को इस ज़बरन और ज़ालिम तरीके से रोकना चाहते हैं ? उन्होंने कहा की अगर हरियाणा की भाजपा-जजपा सरकार ने किसान और आड़ती की ज़बान दबाने की 10 तारीख को कुरुक्षेत्र में कोशिश की, तो इसके गंभीर परिणाम सरकार को भुगतने पड़ेंगे और हरियाणा का किसान, आढ़ती और मजदूर इस ज़ाबर और ज़ालिम तरीकों का मुंहतोड़ जवाब देगा। उन्होंने कहा की अब भी चेत जाइए, वरना सरकार को नेस्तनाबूत करने के लिए हरियाणा के लोग मजबूर हो जाएंगे।


 Global Newsletter

  • Facebook
  • social-01-512
  • Twitter
  • LinkedIn
  • YouTube