• globalnewsnetin

मुख्यमंत्री ने घर पर बहाया पसीना


चंडीगढ़,(अभिनव कालरा)-हरियाणा प्रदेश में आज अंतर्राष्टï्रीय योग दिवस के अवसर पर मुख्यंमत्री से लेकर मंत्री तक और अधिकारियों से लेकर कर्मचारियों, खिलाडिय़ों के अलावा आमजन ने भी योग क्रियाओं में बढ़-चढ़ कर हिस्सा लिया।

कोविड-19 के प्रसार को रोकने के दृष्टिगत भारत सरकार के दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए सोशल डिस्टेंसिंग व मास्क आदि का उपयोग करके राज्यभर में आज योगाभ्यास किया गया।

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने आज यहां छठे ‘अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस’ के अवसर पर अपने घर पर ही योग किया और प्रदेश के लोगों को योग दिवस की बधाई दी। उन्होंने सुबह एक घंटे तक योगासन किए। कोविड-19 के चलते इस वर्ष अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस की थीम है ‘घर पर योग एवं परिवार के साथ योग’।हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने छठे अंतर्राष्टï्रीय योग दिवस के अवसर पर प्रदेशवासियों को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि योग सम्पूर्ण मानवता को भारत की ओर से अमूल्य उपहार है। योग स्वस्थ जीवन तथा मन और शरीर के बीच के सही संतुलन की कुंजी है।हरियाणा विधानसभा के डिप्टी स्पीकर रणबीर सिंह गंगवा ने हिसार में अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर कहा कि योग मन, शरीर एवं आध्यात्मिक शक्ति के मध्य संतुलन पैदा करने का सर्वोत्तम अभ्यास है जो विश्व को भारत वर्ष की देन है। योग भारत की 5000 वर्ष से भी पुरानी पद्घति है। योग भारतीय जीवन पद्घति का आधार रहा है।

हरियाणा के शिक्षा मंत्री कंवर पाल ने आज यमुनानगर में अंतर्राष्टï्रीय योग दिवस के अवसर पर भागीदारी करते हुए कहा कि संघर्ष व तनाव के बीच विशेष रूप से कोविड-19 के इस दौर में शरीर को स्वस्थ व मन को शांत रखने में योगाभ्यास सहायक सिद्ध होगा। उन्होंने कहा कि मनुष्य को जीवन में स्वस्थ रहना है तो योग करना बहुत जरूरी है, मनुष्य को प्रतिदिन अपनी दिनचर्या में से कुछ समय निकालकर योग करना चाहिए इससे मनुष्य शारीरिक रूप के साथ-साथ मानसिक रूप से भी मजबूत बनता है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने योग को अंतर्राष्ट्रीय दिवस घोषित करवा कर पूरे विश्व में योग को एक नई पहचान दी है।

हरियाणा के बिजली एवं जेल मंत्री रणजीत सिंह ने छठे अंतर्राष्टï्रीय योग दिवस के अवसर पर अपने आवास पर योग अभ्यास करते हुए कहा कि भारतीय संस्कृति में योग का विशेष महत्व है। यह मानव को सशक्त, शांत और ओजस्वी बनाता है। योग रूपी इस महान धरोहर को पूरी दुनिया ने उत्तम स्वास्थ्य व मन को एकाग्र करने के लिए अपनाया है। योग जीवन का वह दर्शन है जो इंसान को उसकी आत्मा से जोड़ता है। योग शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढाने में कारगर है, इसलिए आज के इस कोरोना काल में योग की उपयोगिता और भी अधिक हो जाती है।

हरियाणा के सहकारिता मंत्री डॉ. बनवारी लाल ने विश्व योग दिवस के अवसर पर कहा कि योग हमारी प्राचीन चिकित्सा पद्धति है। योग मानव के मानसिक व शारीरिक विकास के लिए अहम है। उन्होंने लोगों से आहवान किया कि कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए नियमित रुप से योग अभ्यास करें। योग भारत की सांस्कृतिक विरासत का सबसे उत्कृष्ट उदाहरण है। यह हमारे शरीर, मन एवं आत्मा के बीच सामंजस्य बनाता है। योग मन, आत्मा व शरीर को जोड़ता है और हमें सकारात्मक दिशा में आगे बढ़ाता है।

हरियाणा के पुरातत्व-संग्रहालय एवं श्रम-रोजगार राज्यमंत्री अनूप धानक ने अंतर्राष्टï्रीय योग दिवस के अवसर पर योग अभ्यास करने के बाद कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भारतीय योग पद्धति को विश्व पटल पर ख्याति दिलाने का काम किया है, जिसके परिणाम स्वरूप विश्वभर में पिछले 6 वर्ष से प्रति वर्ष 21 जून को विश्व योग दिवस का आयोजन किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि योग हमारे जीवन में संतुलन पैदा करता है जो शतायु और स्वस्थ जीवन का मार्ग प्रशस्त करता है।


 Global Newsletter

  • Facebook
  • social-01-512
  • Twitter
  • LinkedIn
  • YouTube