• globalnewsnetin

मुख्यमंत्री ने सरकाघाट क्षेत्र के लिए 94 करोड़ की विकासात्मक परियोजनाएं समर्पित कीं


शिमला (अच्युत धवन) हिमाचल के मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने आज यहां से वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से मण्डी जिला के सरकाघाट विधानसभा क्षेत्र में 94.14 करोड़ रुपये की विकासात्मक परियोजनाओं की आधारशिलाएं रखीं व लोकार्पण किए।

जय राम ठाकुर ने 10.4 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित राजकीय महाविद्यालय बल्दवाड़ा के भवन, 2.97 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला पौंटा, पटरीघाट और तहसील बल्दवाड़ा के आस-पास के गांव की बस्तियों के लिए 99 लाख रुपये की उठाऊ जलापूर्ति योजना समर्पित की।

मुख्यमंत्री ने बलद्वाड़ा, भदरोटा और गोपालपुर खण्ड के भागों के लिए 51.76 करोड़ रुपये से निर्मित होने वाली बहु गांव ग्रामीण पाईप द्वारा जलापूर्ति योजना, 20.35 करोड़ रुपये की लागत से सरकाघाट मसरैन बग्गी सड़क के स्तरोन्यन, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला थौना में 1.42 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाली विज्ञान प्रयोगशाला, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला पौंटा में 1.32 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाली विज्ञान प्रयोगशाला, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला रिस्सा में 1.04 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाले अतिरिक्त भवन, तहसील सरकाघाट की ग्राम पंचायत पिंगला के गरौर-चिम्बा-रा-बल्ह की आंशिक रूप से कवर बस्तियों के लिए 1.03 करोड़ रुपये की उठाऊ जलापूर्ति योजना, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला चैक में 95 लाख रुपये की लागत से निर्मित होने वाली विज्ञान प्रयोगशाला, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला पटड़ीघाट में 95 लाख रुपये की लागत से निर्मित होने वाली प्रयोगशाला और बैरा (पिंगला) में 90 लाख रुपये की लागत से निर्मित होने वाले कुश्ती स्टेडियम की आधारशिला रखीं।

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने वर्चुअल रैली को सम्बोधित करते हुए कहा कि आज उन्होंने 14.42 करोड़ रुपये की तीन विकासात्मक परियोजनाओं के उद्घाटन और 79.72 करोड़ रुपये की लागत की नौ परियोजनाओं की आधारशिलाएं रखीं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना महामारी के दौरान सरकार यह सुनिश्चित कर रही है कि विकास की गति प्रभावित न हो। इसके लिए सरकार ने उद्घाटन और शिलान्यास वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग माध्यम से करने का निर्णय लिया है। उन्होंने सरकाघाट के लोगों का एसडीएमए कोविड-19 स्टेट डिजास्टर रिस्पाॅंस फंड में 22 लाख रुपये के अंशदान के लिए आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि यह अंशदान मुश्किल की घड़ी में लोगों की सहायता करने में सहायक सिद्ध हुआ है। उन्होंने लोगों को इस महामारी के प्रति सतर्क रहने का आग्रह किया है क्योंकि यह संकट अभी समाप्त नही हुआ है।

जय राम ठाकुर ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के सशक्त नेतृत्व मंे अन्य विकसित देशों की तुलना में इस महामारी से हमारे देश को कम क्षति पहुंची है। उन्होंने कहा कि भारत में इस महामारी से 60 हजार लोगों की मृत्यु हुई है, जो कि 142 करोड़ की आबादी वाले 15 सबसे विकसित देशों जहां सात लाख मृत्यु दर्ज की गई है की तुलना में बहुत कम है। यह केवल प्रधानमंत्री के समय पर लिए गए निर्णय के कारण सम्भवन हुआ है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने इस महामारी को फैलने से रोकने के लिए प्रभावशाली कदम उठाए हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा भी इस महामरी को फैलने से रोकने के लिए उठाए गए कदमों की सराहना की गई है।

जय राम ठाकुर ने कहा कि देश के विभिन्न भागों में फंसे 2.50 लाख से अधिक हिमाचलियों को प्रदेश में वापिस लाया गया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार कोरोना मरीजों का उचित उपचार सुनिश्चित कर रही है। उन्होंने इस संकट से निपटने के लिए कोरोना योद्धाओं द्वारा दी जा रही सेवाओं के लिए उनका आभार व्यक्त किया।

उन्होंने कहा कि सरकाघाट क्षेत्र में कार्यान्वित की जा रही सभी परियोजनाओं को समयबद्ध पूरा किया जाएगा। उन्होंने कहा कि सीर खड्ड के तटीकरण से क्षेत्र की हजारों एकड़ उपजाऊ भूमि का संरक्षण होगा।

जय राम ठाकुर ने प्रधानमंत्री को इस महामारी से प्रभावशाली तरीके से लड़ने के लिए प्रदेश को 1.60 लाख पीपीई किट्स, 500 वेंटिलेटर और 3 लाख एन 95 मास्क प्रदान करने के लिए आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि सीएम हेल्पलाइन 1100 प्रदेश के लोगों की समस्याओं के समाधान के लिए वरदान साबित हुई है। प्रदेश में गृहिणी सुविधा योजना के अन्तर्गत 2.78 लाख परिवारों को मुफ्त गैस कनैक्शन प्रदान किए गए हैं। प्रदेश में प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के अन्तर्गत 8.75 लाख से अधिक किसान लाभान्वित हुए हैं।

जलशक्ति, बागवानी और राजस्व मंत्री महेन्द्र सिंह ठाकुर ने कहा कि सरकाघाट में 30 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाली प्रशिक्षण अकादमी से क्षेत्र के युवा लाभान्वित होंगे। उन्होंने कहा कि देश की सेवा के लिए सेना में भर्ती होने की इच्छा रखने वाले युवाओं को निःशुल्क प्रशिक्षण भी प्रदान किया जाएगा। उन्होंने कहा कि 158 करोड़ रुपये की लागत से क्षेत्र के सीर खड्ड का तटीकरण किया जाएगा और इस परियोजना के लिए केन्द्र सरकार की ओर से निवेश की स्वीकृति प्रदान की गई है।

सांसद रामस्वरूप शर्मा ने कहा कि प्रदेश के लोग भाग्यशाली है कि उन्हें मुख्यमंत्री के परिश्रमी और ईमानदार नेतृत्व में प्रदेश प्रगति और उन्नति के पथ पर अग्रसर है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने वृद्धावस्था पैंशन का लाभ लेने की आयु सीमा कम करने, लोगों की समस्याओं के समाधान के लिए जनमंच कार्यक्रम, सहारा योजना के अन्तर्गत गंभीर बीमारी से पीड़ित मरीजों के परिवारों को आर्थिक सहायता प्रदान करना, गृहिणी सुविधा योजना के अन्तर्गत 2.78 लाख परिवारों को निःशुल्क गैस कनैक्शन प्रदान करना इत्यादि अनेक एतिहासिक निर्णय लिए हैं। उन्होंने केन्द्र सरकार द्वारा शुरू की गई विभिन्न विकासात्मक योजनाओं के अतिरिक्त केन्द्र सरकार द्वारा गत 6 वर्षों के दौरान लिए गए ऐतिहासिक निर्णयों की विस्तृत जानकारी दी।

स्थानीय विधायक कर्नल इंद्र सिंह ने सरकाघाट क्षेत्र में करोड़ों रुपये की लागत की विकासात्मक परियोजनाएं समर्पित तथा शिलान्यास करने के लिए मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा समय पर उठाए गए कदमों के कारण देश के विभिन्न भागों से 2.50 लाख लोगों की वापसी के बावजूद अन्य राज्यों की अपेक्षा हिमाचल में कोविड मरीजों की संख्या बहुत कम है। उन्होंने कहा कि बल्दवाड़ा, भदरोटा तथा गोपालपुर खंड के लिए 51.76 करोड़ रुपये की पेयजल आपूर्ति योजना से क्षेत्र कीे 41 हजार आबादी को बेहतर पेयजल सुविधा उपलब्ध होगी। उन्होंने क्षेत्र की विकासात्मक मांगों के प्रति विचारात्मक होने के लिए मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया। उन्होंने मुख्यमंत्री से  राजकीय महाविद्यालय बल्दवाड़ा में विज्ञान कक्षाएं आरंभ करने का आग्रह भी किया।

एपीएमसी अध्यक्ष एवं जिला भाजपा अध्यक्ष दलीप ठाकुर ने इस अवसर पर अपने विचार व्यक्त किए।

इस अवसर पर विधायक प्रकाश राणा, भाजपा नेता नरेश कुमार, निशा व सीमा, उपायुक्त मंडी ऋग्वेद ठाकुर, पुलिस अधीक्षक मंडी शालिनी अग्निहोत्री भी सरकाघाट क्षेत्र के बल्दवाड़ा में उपस्थित थे।

 Global Newsletter

  • Facebook
  • social-01-512
  • Twitter
  • LinkedIn
  • YouTube