• globalnewsnetin

मुख्य सचिव द्वारा फरीदकोट डिविजऩ का दौरा ; विकास कामों की की समीक्षा


फरीदकोट, (ग्लोबल न्यूज़) :पंजाब की मुख्य सचिव विनी महाजन की तरफ से जिलों में चल रहे विकास प्रोजेक्टों, विभिन्न सरकारी योजनाओं, स्कीमों और विभागों के कामों की समीक्षा के लिए किये जा रहे विभिन्न डिविजनों के दौरों की कड़ी के तौर पर आज फरीदकोट डिविजऩ का दौरा किया गया। फरीदकोट डिविजऩ के तीन जिलों फरीदकोट, बठिंडा और मानसा के प्रशासनिक सचिवों, कमिश्नर और डिप्टी कमीशनरों के साथ उन्होंने मीटिंग की।

मीटिंग के उपरांत एक प्रैस कान्फ्ऱेंस के दौरान बातचीत करते हुये विनी महाजन ने कहा कि उनकी तरफ से राज्य की सभी डिविजनों में जिलों के प्रशासनिक सचिवों, कमिश्नरों और डिप्टी कमिश्नरों के साथ मीटिंग करके जिलों में चल रहे विकास कामों, विकास स्कीमों विभिन्न प्रोजेक्टों, योजनाओं और लोगों को पेश मुश्किलों का जायज़ा लिया जा रहा है। इससे पहले उनकी तरफ से रूपनगर और फिऱोज़पुर डिविजऩ में अधिकारियों के साथ मीटिंग की जा चुकी है।

उन्होंने कहा कि कोविड-19 के कारण राज्य में चल रहे विकास प्रोजैक्ट जो रुक गए थे, उन पर अब तेज़ी से काम किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि पंजाब सरकार और राज्य के लोगों ने कोविड के विरुद्ध जंग लड़ी है और काफ़ी हद तक इस पर काबू भी पाया है परन्तु आज भी हमें ज़रूरत है कि हम तब तक कोविड के प्रति सावधानियां इस्तेमाल करनी जारी रखें जब तक कोविड की दवा नहीं आती। उन्होंने कहा कि हमें मास्क पहनने, सामाजिक दूरी बनाये रखने और भीड़ वालों स्थानों पर जाने से गुरेज़ करना चाहिए।

एक सवाल के जवाब में मुख्य सचिव ने कहा कि पंजाब सरकार राज्य में औद्योगिक विकास के लिए पूरी तरह यत्नशील है और सरकार ने 2017 में उद्योगों को और बढ़ावा देने के लिए नयी औद्योगिक पॉलिसी बनाई है जिसके निष्कर्ष के तौर पर साढ़े तीन सालों में राज्य में 70 हज़ार करोड़ के करीब औद्योगिक निवेश हुआ है।

उन्होंने यह भी बताया कि फरीदकोट, कोटकपूरा और जैतो के सिवरेज और पीने वाले पानी की समस्या को जल्दी दूर किया जायेगा और कोटकपूरा का रेलवे ओवर ब्रिज 31 दिसंबर, 2020 तक यातायात के लिए खोल दिया जायेगा।

उन्होंने किसानों को पराली न जलाने की अपील करते हुये पंजाब सरकार की तरफ से जारी हिदायतों की पालना करने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने बताया कि पंजाब में इस साल पराली जलाने में गिरावट दर्ज की गई है। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह की तरफ से उठाये गये सार्थक कदमों के कारण पंजाब में 5 प्रतिशत कम क्षेत्र में पराली जलाई गई है। उन्होंने कहा कि अक्तूबर के अंत तक इस साल 7.49 लाख हेक्टेयर ज़मीन की पराली जलाई गई जोकि पिछले साल 7.90 लाख हेक्टेयर थी। इस साल यह दर पिछले साल की अपेक्षा 5.23 प्रतिशत कम है।  

इससे पहले मुख्य सचिव टीला बाबा फऱीद में नतमस्तक हुए। उन्होंने फरीकदोट डी.सी कार्यालय में पी.जी.आर.एस केंद्र का उद्घाटन भी किया।

मीटिंग में पर्यटन विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव संजय कुमार, स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख सचिव हुसन लाल, कमिश्नर रवीन्द्र कुमार कौशिक के अलावा बाबा फऱीद यूनिवर्सिटी ऑफ हैल्थ सायंसेज़ के उप-कुलपति डा. राज बहादुर, आई.जी डा. कोसतुभ शर्मा, फरीदकोट के डिप्टी कमिश्नर विमल कुमार सेतिया, बठिंडा के डिप्टी कमिश्नर बी. श्री निवासन और मानसा के डिप्टी कमिश्नर महिंद्र पाल के अलावा अन्य भी उच्च अधिकारी उपस्थित थे। 

 Global Newsletter

  • Facebook
  • social-01-512
  • Twitter
  • LinkedIn
  • YouTube