top of page
  • globalnewsnetin

राज्य के सामाजिक-आर्थिक विकास के हिस्सेदार बनो; मुख्यमंत्री की उद्योगपतियों से अपील


एस. ए. एस. नगर (मोहाली), :पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने तीन करोड़ पंजाबियों के परिवार में शामिल होने के लिए कारोबारियों का स्वागत हुए उनको राज्य के सामाजिक-आर्थिक विकास में हिस्सेदार बनने का न्योता दिया। मुख्यमंत्री ने आज यहाँ पाँचवे प्रगतिशील पंजाब निवेशक सम्मेलन के उद्घाटनी सैशन के दौरान कारोबारियों को संबोधन करते हुये उनका संतों, पीरों-फ़कीरों और शहीदों की धरती पर स्वागत करते हुये कहा कि वह आज अपने दरमियान कारोबारी क्षेत्र की मशहूर शख्सियतों को देख कर खुश हैं। उन्होंने कहा कि पंजाब देश भर में निवेश के लिए सबसे अनुकूल स्थान है और कारोबारियों की सुविधा के लिए कोई कसर बाकी नहीं छोड़ी जायेगी। भगवंत मान ने पंजाब को देश का औद्योगिक हब बनाने के लिए राज्य सरकार और उद्योगपतियों के दरमियान मज़बूत सांझ की उम्मीद ज़ाहिर की।

मुख्यमंत्री ने कहा कि निवेशकों को राज्य में निवेश करने की सुविधा देने के लिए सरकार जल्द ही ज़मीन के प्रयोग में तबदीली ( सी. एल. यू.) और एन. ओ. सी. को ख़त्म कर देगी, जो उद्योगों के लिए परेशानी का कारण हैं। उद्योगपतियों का स्वागत करते हुये उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री के तौर पर ज़िम्मेदारी संभालने के सिर्फ़ एक साल के अंदर ही उनका सबसे पहला और मुख्य काम लोगों की मुश्किलों, उलझनों के बारे अवगत करवाना है। भगवंत मान ने कहा कि उनकी सरकार का उद्देश्य बदलती उम्मीदों और नयी चुनौतियों के साथ तालमेल रखने के लिए विकास जारी रखना है।

मुख्यमंत्री ने उद्यमियों के साथ भावुक सांझ डालते हुये कहा कि वह मौकों का भंडार हैं, जिनका पंजाब और भारत के नौजवान लाभ उठाना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि चाहे हम सार्वजनिक, निजी या ग़ैर-लाभकारी क्षेत्रों में काम कर रहे हैं, हममें से हरेक की एक भूमिका है, यदि हम अपनी उम्मीदों को पूरा करना है और अपने देश, अपने समाज, अपने परिवार के प्रति अपनी इच्छाओं और जिम्मेदारियों को निभाना है। भगवंत मान ने कहा कि यह सम्मेलन कारोबारी समझौतों के बारे नहीं है, बल्कि ज्ञान के वितरण, विचार-विमर्श और एक-दूसरे से सीखने के बारे है।


मुख्यमंत्री ने ज़ोर देकर कहा कि उन्होंने पड़ाववार आर्थिक विकास को तेज करके देश के भविष्य को उज्जवल बनाने का रास्ता चुना है। भगवंत मान ने कहा कि उन्होंने देखा है कि पंजाब की नौजवान पीढ़ी ज़िंदगी में कुछ बड़ा करना चाहती है। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार को पूरा यकीन है कि परमात्मा ने उनको लोगों के जीवन में गुणात्मक बदलाव लाने के लिए पंजाब का नेतृत्व करने का मौका दिया है।


मुख्यमंत्री ने कहा कि वह लोगों के सक्रिय सहयोग और तालमेल से बिना इस ज़िम्मेदारी को नहीं निभा सकते। भगवंत मान ने कहा कि उनके पास एक समर्पित टीम है, जो लोगों के सहयोग के साथ आर्थिक विकास को उत्साहित करना चाहती है। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार ने कारोबारों और निवेशकों की सहायता के लिए कई नीतियाँ और पहलकदमियां पेश की हैं।


मुख्यमंत्री ने उम्मीद ज़ाहिर की कि आज पेश की गई नयी औद्योगिक और कारोबारी विकास नीति- 2022 ज़रुरी आर्थिक विकास को गति देगी। भगवंत मान ने कहा कि नीति का उद्देश्य आने वाले पाँच सालों में बड़े निवेश को आकर्षित करना और अधिक से अधिक रोज़गार पैदा करना है। उन्होंने कहा कि यह नीति मुकाबले को उत्साहित करती है, जिसमें विस्तार और नये एम. एस. एम. ई., बड़ी यूनिटें, निर्यात को उत्साह, सेवा क्षेत्र के स्टार्ट-अप और मैनुफ़ेक्चरिंग दोनों शामिल हैं।

Kommentare


bottom of page