top of page
  • globalnewsnetin

लुधियाने के लोगों को गंदे पानी और गंभीर बीमारियों से मिलेगी निजात- भगवंत मान


लुधियाना, : बुड्ढे नाले को फिर बुड्ढा दरिया बनाने का ऐलान करते हुए मुख्यमंत्री भगवंत मान ने बुड्ढे नाले की सफ़ाई और कायाकल्प के लिए 315.50 करोड़ रुपए की लागत के साथ सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट ( एस. टी. पी.) समेत अन्य प्रोजैक्ट लोगों को समर्पित किये जिससे लोगों को दूषित पानी और गंभीर बीमारियों से निजात मिलेगी।

यहाँ एस. टी. पी. को समर्पित करने के मौके पर अपने संबोधन में मुख्यमंत्री ने प्रदूषित हो चुके बुड्ढे नाले पर चिंता ज़ाहिर की। राज्य ख़ास कर लुधियाना निवासियों को बुड्ढे नाले के गंदे पानी के प्रदूषण से मुक्त करवाने के लिए मुख्यमंत्री ने कहा कि दूषित हो चुका यह नाला पिछली सरकारों की लापरवाही का नतीजा है जिसका खामियाजा लोग भुगत रहे थे।

भगवंत मान ने कहा, “मैं लोक सभा मैंबर के तौर पर संसद में बुड्ढे नाले के गंदे पानी का मसला उठाता रहा हूं। बुड्ढे नाले का दूषित पानी सतलुज में मिल जाता था जिससे सरहदी ज़िले फाजिल्का के जीवन पर बहुत बुरा प्रभाव पड़ा। मैंने ख़ुद इस ज़िले के गाँवों में देखा जहाँ बहुत से बच्चे जन्म के मौके पर ही बीमारियों से ग्रसित होते हैं। दुख की बात है कि यह गाँव जलालाबाद विधान सभा हलके में पड़ते थे जहाँ से सुखबीर सिंह बादल नुमायंदगी करते रहे हैं परन्तु उन्होंने इस समस्या के हल के लिए कुछ नहीं किया।“

मुख्यमंत्री ने उम्मीद ज़ाहिर की कि 225 एम. एल. डी. की क्षमता वाला नया सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट ( एस. टी. पी.) शहर में बुड्ढे नाले की सफ़ाई में सहायक सिद्ध होगा। उन्होंने कहा कि यह प्रोजैक्ट शहर में दूर अंदर तक बहते बुड्ढे नाले में दूषित पानी को रोकने में अहम भूमिका निभाएगा।। भगवंत मान ने कहा कि इसके नाले का 14 किलोमीटर हिस्सा शहर में से गुज़रता है और इसकी मुकम्मल सफ़ाई के लिए विस्तृत योजना बनायी गयी है।

मुख्यमंत्री ने बताया कि विस्तृत प्रोजैक्ट के मुताबिक अमरुत और स्मार्ट सिटी स्कीम के अंतर्गत 650 करोड़ खर्च किए जाने हैं। उन्होंने फंडों की व्यवस्था का ज़िक्र करते हुए बताया कि इस प्रोजैक्ट पर 392 करोड़ रुपए राज्य सरकार ख़र्च रही है जबकि 258 करोड़ रुपए भारत सरकार की तरफ से मैचिंग ग्रांट के तौर पर दिए जा रहे हैं। भगवंत मान ने कहा कि 225 एम. एल. डी. की क्षमता वाले एस. टी. पी. सहित 315.50 करोड़ रुपए के प्रोजैक्ट आज लोगों को समर्पित किये गए हैं। इस प्रोजैक्ट के साथ लुधियाना शहर का लगभग एक तिहाई सिवरेज का पानी संशोधन कर बुड्ढे नाले में डाला जायेगा। उन्होंने बताया कि इस प्लांट पर तीसरे स्तर तक पानी सुधारने के लिए पंजाब में पहली बार फाइबर डिस्क फ़िल्टर स्थापित किया गया है। मुख्यमंत्री ने बताया कि इस प्लांट को कार्यशील रखने और देखभाल करने की व्यवस्था अगले 10 सालों के लिए ठेकेदार की तरफ से की जायेगी जिस पर 320.79 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे और यह फंड नगर निगम लुधियाना की तरफ से मुहैया करवाए जाएंगे।

0 comments

Comments


bottom of page