• globalnewsnetin

लूटपाट और डकैतियों में तेजी से बढ़ोतरी हुई क्योंकि लोगों को राज्य के शासकों द्वारा भाग्य के सहारे छोड़


चंडीगढ़ (गुरप्रीत) : शिरोमणी अकाली दल ने आज कहा कि छीनाझपटी, डकैतियों और हथियारबंद डकैतियों में तेजी से बढ़ोतरी हुई है जिसके कारण हाल ही में प्रसिद्ध क्रिकेटर सुरेश रैना के दो परिजनों का कत्ल हुआ था, जिससे स्पष्ट संकेत मिलता है कि राज्य में शासन कर रहे लोगों ने खुद को तो बंद कर लिया है और लोगों को उनके भाग्य के सहारे छोड़ दिया है।

यहां एक प्रेस बयान जारी करते हुए सरदार बिक्रम सिंह मजीठिया ने कहा कि राज्य में महिलांए भी सुरक्षित नही हैं,एक लड़की के साथ कुछ दिन पहले छीनाझपटी की घटना में हथियारबंद हमला करने पर खुद को बचाने पर मजबूर होना पड़ा। उन्होने कहा कि हाल ही में एक अन्य घटना में 65 साल की महिला ईंट भटठा मालिक को पायल में उसके घर के बाहर मार दिया गया और एक अमृतसर की एक अन्य घटना में लुटेरों ने एक मंदिर के पुजारी की हत्या कर दी और पैसे लेकर भाग निकले। वहीं एक युवक की गोली मारकर हत्या कर दी गई। उन्होेने कहा कि डकैतियों और लूट के मामले प्रतिदिन बढ़ रहे हैं।

बिक्रम सिंह मजीठिया ने कहा कि शराब और रेत खनन के साथ साथ असामाजिक तत्वों को दिए गए खुले लाइसेंसों ने भी राज्य में कानून व्यवस्था की स्थिति को खराब कर दिया है। ‘कांग्रेसियों द्वारा किए गए घोटालों को दी जा रही क्लीन चिटों से असामाजिक तत्वों को बढ़ावा दिया है’। उन्होने कहा कि यह बेहद चौंकाने वाली बात है कि जहां रात में आम आदमी के लिए अघोषित कर्फ्यू लगा हुआ है, वही राज्य में वारदात करने वाले अपराधियों पर कोई प्रतिबंध नही है।

सरदार मजीठिया ने कहा कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह को नापाक तत्वों की गतिविधियों को रोकने के लिए तत्काल निर्देश जारी करने चाहिए। सभी तरह की गैरकानूनी गतिविधियों को रोका जाना चाहिए चाहे उन्हे कांग्रेसी विधायकों को संरक्षण ही क्यों न प्राप्त हो। उन्होने कहा कि राज्य में असामाजिक तत्वों की पहचान की जानी चाहिए और उन्हे अनुकरणीय सजा दी जानी चाहिए। कानून तोड़ने वाले तत्वों को प्रोत्साहित करने वाले राजनेता-पुलिस मिलीभगत को समाप्त किया जाना चाहिए।

सरदार मजीठिया ने कहा कि अब समय आ गया है कि राज्य पुलिस ने लोगों में विश्वास पैदा करने के साथ साथ अपराधियों के दिलों में डर पैदा करने के लिए रात्रि गश्त शुरू करे। उन्होने कहा कि एक साथ नाका प्रणाली को मजबूत किया जाना चाहिए और उनके क्षेत्र में किसी भी अप्रिय घटना के लिए स्थानीय पुलिस स्टेशनों की जिम्मेदारी तय की जानी चाहिए।

अकाली नेता ने सुरेश रैना के साथ साथ उनके विस्तारित परिवार के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त की है। उन्होने कहा कि यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है कि अंतरराष्ट्रीय स्टार को अपने परिवार के साथ हुई घटना के कारण आईपीएल 2020 से बाहर होना पड़ा।


 Global Newsletter

  • Facebook
  • social-01-512
  • Twitter
  • LinkedIn
  • YouTube