top of page
  • globalnewsnetin

श्री चैतन्य गौड़ीय मठ में धूमधाम से मनाई गई राधाष्टमी


चण्डीगढ़ : श्री चैतन्य गौड़ीय मठ, सेक्टर 20 में श्री राधा अष्टमी महोत्सव बहुत ही हर्षोल्लास, विधिपूर्वक व धूम धाम से मनाया गया। मठ मंदिर के प्रवक्ता जयप्रकाश गुप्ता ने जानकारी देते हुए बताया कि भक्तों में राधा अष्टमी के उपलक्ष पर सुबह से ही बहुत ही उत्साह और उमंग था। मंगला आरती के पश्चात संकीर्तन नृत्यगान एवं दोपहर तक प्रवचन का कार्यक्रम चलता रहा। दोपहर ठीक 12 बजे राधा रानी के प्रकट समय पर उनका पंचामृत से महाभिषेक किया गया। उन्हें सुंदर मनमोहक आकर्षक पोशाक एवं आभूषण भेंट किए गए और महा आरती के पश्चात उन्हें 56 व्यंजनों के भोग लगाया गया। अभिषेक के पश्चात राधा रानी के ऊपर गुलाब के फूलों की वर्षा की गई। अखिल भारतीय श्री चैतन्य गौड़ीय मठ संस्थान के वर्तमान आचार्य एवं अंतरर्राष्ट्रीय अध्यक्ष त्रिडंडी स्वामी श्री भक्त विचार विष्णु जी महाराज जी विशेष रूप से कार्यक्रम में भाग लेने के लिए चण्डीगढ़ पधारे। उन्होंने भक्तों को संबोधित करते हुए बताया कि आज ही के दिन राधा रानी मथुरा स्थित रावल नामक स्थान पर राजा वृष भानु जी को जल के सरोवर में कमल के फूल में प्रकट अवस्था में प्राप्त हुई थी। कृष्ण भक्त इस दिन का इंतजार करते है और प्रतिवर्ष राधा अष्टमी बहुत ही उमंग से मनाते हैं, साल में सिर्फ एक ही दिन राधा रानी के चरणों के दर्शन होते हैं।

उनके चरणों के दर्शन करने से भगवान कृष्ण की भक्ति प्राप्त होती है। संसार के दुखों का निवारण होता है, घर में सुख समृद्धि आती है। आज मठ मंदिर में शाम को श्रीमती राधा रानी के चरणों के दर्शन कर सकते हैं। भारी संख्या में भक्तों ने कार्यक्रम में भाग लिया, तत्पश्चात भगवान को अर्पित स्वादिष्ट प्रसादम भंडारा वितरित किया गया।

0 comments

Comments


bottom of page