• globalnewsnetin

सर्दी के मौसम में कोरोना मामलों में वृद्धि होने की आशंका-आगामी तीन माह तक सतर्क रहने के आदेश


चंडीगढ़, (अदिति)- केन्द्रीय गृह सचिव अजय कुमार भल्ला ने त्योहारों के सीजन और स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा सर्दी के मौसम में कोरोना मामलों में वृद्धि होने की आशंका जताये जाने पर राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में आगामी तीन माह और सतर्कता बरतने एवं योजना बनाने के निर्देश दिये हैं।

केन्द्रीय गृह सचिव आज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से दिल्ली एवं राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में कोविड-19 की स्थिति की समीक्षा बैठक कर रहे थे। जिसमें हरियाणा के मुख्य सचिव श्री विजय वर्धन एवं राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के जिला उपायुक्तों व पुलिस अधीक्षकों ने भी हिस्सा लिया।

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में मुख्य सचिव ने कहा कि त्योहारों के सीजन और स्वास्थ्य विशेषज्ञों द्वारा सर्दी के मौसम में कोरोना के मामले के बढने की संभावना को देखते हुए प्रदेश में लोगों को जागरूक करने, टेस्टिंग में वृद्धि करने और मास्क न पहनने वालों के खिलाफ चालान ड्राइव में तेजी लाने के निर्देश दिए गये हैं। सभी जिलों में कोविड टेस्टिंग बढ़ाई जा रही है। लोगों को जागरूक करने के लिए जिला स्तरीय आईईसी अभियान लागू किया जा रहा है।

उन्होंने बताया कि 15 नवम्बर से हरियाणा में स्कूल और कॉलेज खोले जाने हैं। इसके लिए भी हम योजना पर काम कर रहे हैं ताकि सार्वजनिक वाहनों में बच्चों के एक साथ जाने के कारण कोविड़ सम्बन्धी मामले न बढ़ें।

उन्होंने बताया कि हरियाणा के जिला फरीदाबाद में कोरोना के कारण मृत्युदर 0.9 तथा गुरुग्राम में मृत्युदर 0.6 प्रतिशत है। उन्होंने बताया कि पिछले सात दिन में राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में कोरोना के केसों में तेजी से वृद्धि हुई है। हालांकि हरियाणा सरकार इस संबंध में विशेष सतर्कता बरतते हुए कार्य कर रही है। हम हर स्थिति से निपटने के लिए पूरी तरह तैयार हैं। जहां तक आईसीयू बेड्स की बात है, उसके लिए हरियाणा का स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह मुस्तैद है। प्रदेश के कोविड अस्पतालों में पर्याप्त आईसीयू बेड और वेंटिलेटर हैं और इनकी संख्या जरूरत पडऩे पर बढ़ाने के लिये पर्याप्त संसाधन हैं।

केंद्रीय गृह सचिव ने उत्तरप्रदेश और दिल्ली के उच्च अधिकारियों से भी स्थिति की जानकारी ली और सतर्कता बढाने के लिए कहा। उन्होंने जागरूकता अभियान को और तेज करने के लिए भी कहा।

बैठक में राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव एवं वित्तायुक्त संजीव कौशल, चिकित्सा शिक्षा एवं अनुसंधान विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव आलोक निगम, पुलिस महानिदेशक मनोज यादव, स्वास्थ्य विभाग के विशेष सचिव तथा मिशन निदेशक, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, प्रभजोत सिंह सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी शामिल हुए।


 Global Newsletter

  • Facebook
  • social-01-512
  • Twitter
  • LinkedIn
  • YouTube