• globalnewsnetin

सूचीबद्ध होने के उपरांत प्राईवेट अस्पतालों /क्लीनिकों /लैबों को कोविड-19 के लिए रैपिड एंटीजेन टैस्ट


चंडीगढ़, (गुरप्रीत) : कोरोना महामारी के फैलाव को रोकने के लिए कोरोना पॉजिटिव मरीज़ों की समय पर पहचान के लिए लोगों की अधिक से अधिक जांच करने के मद्देनजऱ पंजाब सरकार द्वारा जि़ला स्वास्थ्य अथॉरिटी के द्वारा सूचीबद्ध होने के उपरांत निजी अस्पतालों /क्लीनिकों /लैबों को कोविड-19 के लिए रैपिड एंटीजेन टैस्ट (आर.ए.टी.) करने की आज्ञा देने का फ़ैसला किया गया है।

आज यहाँ जारी प्रैस बयान में जानकारी देते हुये स्वास्थ्य मंत्री स. बलबीर सिंह सिद्धू ने बताया कि निजी स्वास्थ्य अदारों की तरफ से कोविड -19 के लिए रैपिड एंटीजेन टैस्ट की आज्ञा देने सम्बन्धी राज्य के समूह डिप्टी कमिशनरों और सिविल सर्जनों को दिशा-निर्देश जारी किये गए हैं। उन्होंने कहा कि विभाग की तरफ से आर.ए.टी. किटे मुफ़्त दीं जाएंगी। सिविल सर्जन उन प्राईवेट अस्पतालों /क्लीनिकों/लैबों को सूचीबद्ध करेंगे जो विभाग की तरफ से मुफ़्त मुहैया करवाई गई आर.ए.टी. किटें के साथ टैस्ट करने के लिए स्वैच्छिक तौर पर सूचीबद्ध होने के लिए तैयार हैं।

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि यदि किटें स्वास्थ्य विभाग के द्वारा मुहैया करवाई गई हों तो निजी अस्पताल /लैब मरीज़ों से टैस्ट के लिए अधिक से अधिक 250 रुपए ले सकते हैं। इससे पहले, प्राईवेट लैबें, जो अपनी ख़ुद की किटों का प्रयोग कर रहे हैं, के लिए रैपिड एंटीजेन टेस्टिंग की कीमत 1000 रुपए से घटा कर 700 रुपए कर दी गई थी जिसमें जीएसटी और अन्य टैक्स शामिल हैं। निजी अस्पताल /लैब स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग के द्वारा मुफ़्त मुहैया करवाई गई आर.ए.टी. किटों के प्रयोग के लिए एसओपीज़ की पालना करेंगे।

आर.ए.टी. किटों के प्रयोग के लिए स्टैंडर्ड ओपरेटिंग प्रोसीजर पर रौशनी डालते हुये स. सिद्धू ने कहा कि स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग की तरफ से निजी अस्पतालों /लैबों को आर.ए.टी. किटें मुफ़्त दी गई हैं। निजी अस्पतालों /क्लीनिकों और लैबों में कोविड -19 के शक्की मरीज़ों के नमूने लेने के लिए अलग आईसोलेटड क्षेत्र होना चाहिए। नमूना लेने वाला व्यक्ति पूरी तरह पी.पी.ई किट को पहनना यकीनी बनाऐगा। दिशा-निर्देशों के अनुसार स्वास्थ्य संस्था के पास टैस्ट के बाद बायोमैडीकल अवशेष के प्रबंधन का उचित बंदोबस्त होना चाहिए।

स्वास्थ्य मंत्री ने स्पष्ट किया कि स्वास्थ्य विभाग के द्वारा दिए गए लॉग-इन आईडी का प्रयोग करके सभी रैपिड एंटीजेन टैस्ट नतीजे आईसीएमआर पोर्टल में एंटर किये जाते हैं। पॉजिटिव मामलों के उच्च जोखिम के संपर्क वाले बिना लक्षण वाले व्यक्तियों और लक्षण वाले के व्यक्तियों के लिए, जो रैपिड एंटीजेन टैस्ट में नेगेटिव पाये गए हैं, उन्होंने व्यक्तियों के एनपी /ओपी सवैब को वीटीएम में इक_ा करके कोविड -19 टैस्ट की जांच के लिए जितनी जल्दी संभव हो सके, रियल टाईम आरटी -पीसीआर प्रयोगशाला को भेजा जाना चाहिए। प्राईवेट अस्पताल ऐसे नमूने पैक करने के लिए ज़रुरी लॉजिस्टिकस का प्रबंध करेंगे और आरटी -पीसीआर टेस्टिंग लैब को भेजेंगे।

प्रोटोकोल के अनुसार इसको नज़दीकी सरकारी स्वास्थ्य सुविधा के लिए भी भेजा जा सकता है। उन्होंने कहा कि प्रमाणित निजी अस्पतालों /क्लीनिकों के द्वारा भेजे गए नमूनों की सरकारी लैबों में मुफ़्त जांच की जाऐगी।

 Global Newsletter

  • Facebook
  • social-01-512
  • Twitter
  • LinkedIn
  • YouTube