• globalnewsnetin

सेब, फल व सब्जी की अत्याधुनिक मार्केट के मास्टर प्लान को मंजूरी


चंडीगढ़ (अदिति) हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने पंचकूला जिला के पिंजौर में स्थापित की जा रही सेब, फल व सब्जी की अत्याधुनिक मार्केट के दूसरे चरण के लिए आज मास्टर प्लान को मंजूरी दे दी। यह मार्केट 175 करोड़ रुपये की लागत से 78.33 एकड़ भूमि पर विकसित की जा रही है।

मुख्यमंत्री ने यहां एक बैठक की अध्यक्षता की, जिसमें हरियाणा के कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री जयप्रकाश दलाल भी उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री द्वारा इस अत्याधुनिक मार्केट के दूसरे चरण की मंजूरी के बाद अब निर्माण के लिए बोलियां आमंत्रित की जाएंगी। यह काम 96.53 करोड़ रुपये की लागत से किया जाएगा। पहले चरण का निर्माण कार्य तेजी से चल रहा है और एप्पल शेड, एप्पल शेड से सटे कार्यालय, एंट्री गेट, बाउंड्री वॉल सहित टॉयलेट कॉम्प्लेक्स का काम दिसंबर 2020 के अंत तक पूरा होने की उम्मीद है। परियोजना के पहले चरण पर लगभग 28.44 करोड़ रुपए खर्च होंगे।

इस अवसर पर बैठक में निर्णय लिया गया कि ऑपरेशन मॉडल के रूप में केंद्रीकृत नीलामी प्रक्रिया को अपनाया जाए जो समय पर भुगतान, ट्रांसपेरेंट प्राइस डिस्कवरी, किसान उत्पादक संगठनों (एफपीओ) में किसानों की लाई गई वस्तु का सही तोल सुनिश्चित करेगी। यह प्रक्रिया नई होने के कारण केंद्रीकृत नीलामी मॉडल में निजी ऑपरेटर के साथ-साथ हरियाणा राज्य कृषि एवं विपणन बोर्ड भी सहायता करेगा। यह भी तय किया गया कि शुरू में 50 दुकानों का निर्माण किया जाएगा और उन्हें मार्केट परिसर में आवंटित किया जाएगा। इसके अलावा दुकानों के लिए 50 प्लाट भी बेचे जाएंगे।

विस्तृत परियोजना रिपोर्ट (डीपीआर) को मंजूरी देने के अलावा बैठक में यह भी बताया गया कि इंजीनियरिंग,प्रोक्योरमेंट एंड कंस्ट्रक्शन (ईपीसी) मोड पर दूसरे चरण के विकास के लिए रिक्वेस्ट-फोर-प्रपोजल की अनुमति दी गई है। मार्केट में कोल्ड/कंट्रोल्ड एटमॉस्फियर स्टोर्स, फ्रूट राइपनिंग सेंटर, पेट्रोल पंप/सीएनजी स्टेशन, होटल, ढ़ाबा, पैक हाउस, पैकेजिंग यूनिट्स, ट्रेड सेंटर और वेस्ट मैनेजमेंट सिस्टम के लिए साइटों का पट्टों के आधार पर लंबी अवधि के लिए आवंटन किया जाएगा।

बैठक में जानकारी दी गई कि इस सेब, फल व सब्जी की अत्याधुनिक मार्केट में एप्पल शेड, आलू-प्याज शेड, टमाटर-अन्य फल और सब्जी शेड, किसान और रिटेल शेड, रैफ्रिजरेटिड फल और सब्जी हॉल, प्रशासनिक भवन, किसान रैस्ट हाऊस, पार्किंग स्थल और सडक़ों की सुविधा होगी।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव श्री वी. उमाशंकर, कृषि एवं किसान कल्याण विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री देवेंद्र सिंह, वित्त विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री टीवीएसएन प्रसाद, हरियाणा राज्य कृषि एवं विपणन बोर्ड की मुख्य प्रशासक श्रीमती सुमेधा कटारिया, बागवानी विभाग के महानिदेशक श्री अर्जुन सैनी समेत कई अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

 Global Newsletter

  • Facebook
  • social-01-512
  • Twitter
  • LinkedIn
  • YouTube