• globalnewsnetin

1.74 लाख स्वास्थ्यकर्मियों के कोविड टीकाकरणर की शुरुआत किए जाने की पुख़्ता तैयारियां


चंडीगढ़ (गुरप्रीत) : पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह द्वारा 1.74 लाख स्वास्थ्यकर्मियों के टीकाकरण की प्रक्रिया की शुरुआत किए जाने की पुख़्ता प्रबंध किए जा चुके हैं और पहले चरण में अगले पाँच दिनों तक रोज़ाना 40,000 स्वास्थ्यकर्मियों को टीकाकरण मुहिम अधीन कवर किया जायेगा। इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने आज प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पत्र लिखकर राज्य की गरीब जनसंख्या के लिए मुफ़्त टीकाकरण की माँग की है।

कोविशील्ड वैक्सीन की 2,04,500 ख़ुराकें प्राप्त होने का जिक़्र करते हुए मुख्यमंत्री ने पंजाब में प्रांतीय और केंद्र सरकार के स्वास्थ्यकर्मियों के लिए पहल के आधार पर वैक्सीन मुहैया करवाने के लिए प्रधानमंत्री का धन्यवाद किया। इसके साथ ही उन्होंने प्रधानमंत्री से अपील की कि बीमारी का बोझ घटाने और इसके और आगे फैलने को रोकने के मद्देनजऱ गरीब लोगों के लिए मुफ़्त वैक्सीन मुहैया करवाने पर विचार किया जाये, जिसके नतीजे के तौर पर आर्थिक गतिविधियों में वृद्धि होगी।

केंद्र सरकार के कुछ स्रोतों की रिपोर्टों का हवाला देते हुए कि स्वास्थ्यकर्मियों और अगली कतार के वर्करों के अलावा बाकी आबादी को शायद मुफ़्त दवा मुहैया न करवाई जा सके, इस संबंधी कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने अपने पत्र में कहा कि राज्य के लोग कोविड के कारण बहुत कठिन समय से गुजऱे हैं, जिससे आर्थिक सरगर्मियों पर प्रभाव पड़ा और अर्थव्यवस्था अभी भी इस संकट से नहीं उभर सका। उन्होंने कहा, ‘समाज के गरीब वर्गों के लिए टीकाकरण के लिए रकम अदा करना मुश्किल होगा।’

मुख्यमंत्री ने अपने पत्र में कहा कि हैल्थकेयर वर्करों का टीकाकरण पहल के आधार पर यकीनी बनाने के लिए सभी तैयारियाँ कर ली गई हैं और अगले चरण में फ्रंटलाईन वर्करों (एफ.एल.डब्ल्यूज़) का टीकाकरण किया जायेगा। राज्य के पास टीके के भंडारण और ढुलाई के लिए उपयुक्त सामथ्र्य है। उन्होंने कहा कि टीकाकरण के लिए उपयुक्त संख्या में स्थानों की पहचान की गई है और सभी तैयारियाँ कर ली गई हैं। उन्होंने कहा कि उपयुक्त संख्या में वैक्सीनेटरों की पहचान की गई है और उनको प्रशिक्षण दिया गया है और टीकाकरण सैशनों के प्रबंधन के लिए उपयुक्त संख्या की टीमें लगाई गई हैं और प्रशिक्षण दिया गया है।

यह जि़क्र करते हुए कि ‘‘कोविड-19 महामारी एक अभूतपूर्व संकट है और हमारे कोविड के मुकाबले के लिए राज्य को भारी खर्चा वहन करना पड़ा,’’ मुख्यमंत्री ने आगे लिखा कि उनकी सरकार ने केंद्र को पहले ही विनती की थी कि राज्य के आपदा राहत कोष में इकठ्ठा हुए अनुदान को कोविड के मुकाबले के लिए बरतने की आज्ञा दी जा सकती है। उन्होंने प्रधानमंत्री से अपील की ‘‘कृपा करके बकाया भुगतानों की अदायगी के लिए गृह मंत्रालय इसकी मंज़ूरी दे।’’

इसी दौरान एक सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि प्रधानमंत्री द्वारा मुल्क के लिए राष्ट्रीय टीकाकरण मुहिम की शुरुआत करने के तुरंत बाद इस मुहिम के हिस्से के तौर पर कैप्टन अमरिन्दर सिंह शनिवार की सुबह राज्य में स्वास्थ्यकर्मियों के टीकाकरण की प्रक्रिया का आरंभ करेंगे। मुख्यमंत्री कल प्रात:काल 11:30 बजे मोहाली से टीकाकरण मुहिम की शुरुआत करेंगे और पहले चरण में कुल 59 टीकाकरण स्थानों पर मुहिम का आरंभ होगा। प्रवक्ता ने बताया कि स्वास्थ्यकर्मियों, जिनके विवरण राज्य सरकार द्वारा केंद्र के साथ साझा किए गए हैं, के लिए ही टीकाकरण की ख़ुराकें निश्चित संख्या में हासिल होने के कारण अब मुख्यमंत्री ख़ुद निजी तौर पर अगले चरण में वैक्सीन लगवाएंगे।

0 views0 comments