• globalnewsnetin

2 फरवरी को जींद से चलकर गोहाना, गन्नौर होते हुए हजारों किसानों के साथ सिंघु बॉर्डर पर पहुंचेंगे: अभय


हमें आंदोलन को समझदारी और जिम्मेवारी के साथ शांतिपूर्वक ढंग से करके इस लड़ाई को जितना है

चंडीगढ़, (अदिति): इंडियन नेशनल लोकदल के प्रधान महासचिव अभय सिंह चौटाला ने गाजीपुर बॉर्डर पर किसान आंदोलन को समर्थन देने के लिए साथ जाने वाले किसानों का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि जब तक केंद्र सरकार तीनों काले कृषि कानून वापिस नहीं लेती तब तक किसानों की यह लड़ाई जारी रहेगी। इनेलो नेता 2 फरवरी को जींद से सुबह 10 बजे चलकर गोहाना, गन्नौर होते हुए हजारों किसानों के साथ सिंघु बॉर्डर पर पहुंचेंगे। उन्होंने किसान आंदोलन को ताकत देने के लिए प्रदेश के सभी किसानों से ज्यादा से ज्यादा संख्या में सिंघु बॉर्डर पहुंचने का आह्वान किया ताकि एक विश्वास आंदोलनरत किसानों को दिला कर आएं कि हम लगातार अपने-अपने गांव, कस्बे और शहर से किसान भाईयों को इस आंदोलन का हिस्सा बनाएंगे। किसान संगठन जो भी हमारी जिम्मेवारी लगाएंगे उसे अच्छे ढंग से निभाने का काम करेंगे।

इनेलो नेता ने कहा कि किसान अब जाग चुका है और बहुत समझदार हो गया है और भाजपा सरकार द्वारा फैलाए गए दुष्प्रचार में फंसने वाला नहीं है। भाजपा सरकार ने भरपूर कोशिश की कि हरियाणा और पंजाब के किसानों का आपस में मतभेद पैदा हो लेकिन वो अपने मंसूबों में कामयाब नहीं हो पाए। भाजपा सरकार ने किस तरह आंदोलन को खत्म करने के लिए षड्यंत्र रचे उनके पर्दे भी अब उठ चुके हैं और एक-एक चीज सामने आ गई है। उन्होंने युवाओं से भी आह्वान किया कि केंद्र सरकार किसानों की जमीन छीनकर बड़े कारपोरेट घरानों को देना चाहती है इसलिए यह आंदोलन हमें समझदारी और जिम्मेवारी के साथ शांतिपूर्वक ढंग से करके इस लड़ाई को जितना है।

इनेलो नेता ने प्रधानमंत्री से आग्रह करते हुए कहा कि कें द्र सरकार चल रहे लोकसभा सत्र में तीन काले कृषि कानूनों को खत्म करे और किसान संगठनों से बात करके कैसे किसानों का भला हो, उसके लिए अच्छे कृषि कानून बना कर प्रधान सेवक की जिम्मेवारी निभाने का काम करें।

1 view0 comments