• globalnewsnetin

31 दिसम्बर तक सभी को लगे कोरोना बचाव का पहला टीका-मनोहर लाल


चंडीगढ़ (अदिति) हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि प्रदेश के सभी नागरिकों के टीकाकरण का कार्य युद्व स्तर पर किया जाए ताकि कोरोना की सम्भावित तीसरी लहर को रोका जा सके।

मुख्यमंत्री आज यहां उपायुक्तों से सीधा संवाद कर प्रदेश में चल रहे टीकाकरण अभियान, डीएपी खाद की उपलब्धता, खेतों में भरे हुए पानी की निकासी, शुगर मिलों में पिराई शुरू करने व परिवार पहचान पत्र और मुख्यमंत्री अंत्योदय परिवार उत्थान योजना की समीक्षा कर रहे थे।

बैठक में कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री जे पी दलाल मौजूद रहे और स्वास्थ्य मंत्री श्री अनिल विज वीसी के माध्यम से बैठक में शामिल हुए।


31 दिसम्बर तक सभी को लगे कोरोना बचाव का पहला टीका


मुख्यमंत्री ने हर घर दस्तक अभियान के तहत् सभी नागरिकों का पूर्ण रूप से टीकाकरण करने के निर्देश देते हुए कहा कि प्रदेश में 31 दिसम्बर तक सभी को वेक्सिनेशन की पहली डोज हर हाल लगाई जाए। इसके लिए अतिरिक्त टीमो का गठन करने और अन्य आवश्यक संसाधनों की पूर्ति सुनिश्चित करने को कहा। उन्होंने कहा कि इस अभियान में समर्पण पोर्टल पर पंजीकृत स्वेच्छिक कार्यकर्ताओं के साथ साथ एनजीओ, धर्म गुरुओं की भी सहायता ली जाए। जान है तो जहान है- इसलिए हर नागरिक अपनी जान की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए टीकाकरण में अपनी भागीदारी को सुनिश्चित करे।


दो माह में करें टीकाकरण का 100 प्रतिशत लक्ष्य हासिल


मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी टीकाकरण अभियान की स्वयं समीक्षा कर रहे हैं। अधिकारी इस ओर विशेष ध्यान देते हुए ऐसी कोई लापरवाही न करें जिससे कोविड-19 की तीसरी लहर को बढावा मिले। उन्होंने कहा कि दूसरे चरण को दो माह में पूरा कर हरियाणा मे टीकाकरण का 100 प्रतिशत लक्ष्य हासिल करें । महामारी अलर्ट सुरक्षित हरियाणा के तहत् जिलों में आयोजित मेलों में पहले टीकाकरण का प्रमाण देने वाले को ही आने की अनुमति दें। इसके अलावा 500 से अधिक लोगों के एकत्र होने वाले स्थानों पर मौके पर ही कैम्प लगाकर लोगों का टीकाकरण करने की व्यवस्था भी करें।

जनसम्पर्क विभाग चलाए विशेष जागरूकता अभियान


उन्होंने कहा कि प्रदेश में पर्याप्त मात्रा में कोरोना वेक्सिन उपलब्ध है। इसलिए एक बार फिर से प्रदेश का सूचना, जनसम्पर्क एवं भाषा विभाग लोगों में टीकाकरण के लिए विशेष मुहिम चलाकर वेक्सिनेशन में पिछड़ गए जिलों को बराबर लाने के लिए जागरुक करे । इसके लिए टीवी, रेडियो, लोकल मीडिया, भजन मण्डलियां व एडवरटाईजमेंट के माध्यम से व्यापक स्तर पर प्रचार प्रसार किया जाए।


डीएपी खाद के मिलेंगे अतिरिक्त 16 रैक


मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में डीएपी खाद की कोेई कमी नहीं आने दी जाएगी। इसके लिए केन्द्र से बातचीत करके अतिरिक्त रैक देने की मांग की गई है। उन्होंने कहा कि अगले 4 दिन मे हरियाणा को 16 अतिरिक्त रैक मिलेंगे। इसके बाद जिलों में पर्याप्त मात्रा में खाद उपलब्ध हो जाएगी। उन्होंने जिला उपायुक्तों को खाद वितरण की लगातार मोनिटरिंग के निर्देश दिए। उन्होंने महानिदेशक कृषि एवं किसान कल्याण विभाग को 10 अतिरक्त खाद के रैक की डिमांण्ड केन्द्र सरकार को भेजने के निर्देश दिए ताकि जिलों में खाद की उपलब्धता बनी रहे।


जलभराव की समस्या का जल्द हो निवारण


मुख्यमंत्री ने कहा कि बार बार बारिश होने के कारण कई जिलों के खेतों में पानी निकासी की समस्या आ रही है। जल्द से जल्द पम्प लगाकर खेतों को पुनः खेती योग्य बनाया जाए ताकि किसान समय पर अपनी फसल की बिजाई कर सकें । उन्होंने कहा कि रोहतक, जीन्द, हिसार व फतेहाबाद के कई गांवों में जलभराव की समस्या आ रही है। इन जिलों के उपायुक्त अतिरिक्त संसाधन लगाकर जलभराव की समस्या से किसानों को निजात दिलवाएं।

शुगर मिलें निश्चित समय पर हों शुरू


मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश का कोई भी किसान अपनी गन्ने की फसल लेकर दूसरे राज्यों में न जाए ,इसके लिए जिला उपायुक्त शुगर मिलों में समय पर पिराई का कार्य शुरू करवाना सुनिश्चित करें।


पीपीपी और मुख्यमंत्री परिवार उत्थान योजना का लिया जायजा


मुख्यमंत्री ने कहा कि परिवार पहचान पत्र में आय, जाति, बच्चों एवं दिव्यांगों की वेरिफिकेशन के कार्य को तेजी से पूरा किया जाए। इसकेेेे प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय चरण के कार्य को पूरा करके 22 नवम्बर से खण्ड स्तर पर ग्रामोदय मेलों का आयोजन आरम्भ किया जाए। इन मेलों में विभिन्न विभागों के अधिकारियों के साथ साथ बैंक प्रतिनिधियों को भी शामिल किया जाए ताकि बिना किसी बाधा के गरीब परिवारों की आय बढाने के लक्ष्य को हासिल किया जा सके। उन्होंने कहा कि जिन परिवारों की मासिक आय 15 हजार से कम है उनके जीवन स्तर को सुधारने व उन्हें मुख्यधारा से जोड़ने का सरकार का संकल्प है। इसके लिए जिला उपायुक्त व्यक्ति की इच्छानुसार रोजगार व स्वरोजगार से जोड़ने का प्रयास करें।

बैठक में मुख्य सचिव श्री विजय वर्धन, मुख्यमंत्री के मुख्य प्रधान सचिव श्री डी एस ढेसी, अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री संजीव कौशल, श्री वी एस कुण्डु, श्री पी के दास, श्री देवेन्द्र सिंह, अमित झा, श्री एस एन राय, श्री राजीव अरोड़ा, अनुराग रस्तोगी, आनन्द मोहन शरण, वी राजाशेखर वुन्द्रु, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव वी उमाशंकर तथा अतिरिक्त प्रधान सचिव डा. अमित अग्रवाल सहित वरिष्ठ अधिकारी मौजूद रहे।

0 comments