• globalnewsnetin

8 को पेश होगा बजट, 9 से 11 तक सत्रावकाश


विस अध्यक्ष ज्ञान चंद गुप्ता की अध्यक्षता में बीएसी ने लिया निर्णय

चंडीगढ़ (अदिति) हरियाणा विधान सभा का बजट सत्र 2 से 22 मार्च तक चलेगा। इस दौरान कुल 10 बैठकें होंगी। मुख्यमंत्री मनोहर लाल 8 मार्च को बजट पेश करेंगे। लोक सभा की तर्ज पर नई परंपरा शुरू करते हुए 9 से 11 मार्च तक सत्रावकाश रहेगा। इस दौरान विधान सभा की तदर्थ कमेटियां बजट प्रस्ताव का अध्ययन करेंगी। हरियाणा में यह अपनी तरह का अनूठा प्रयोग होगा। सोमवार को विधान सभा सचिवालय में आयोजित कार्य सलाहकार समिति (बीएसी) की बैठक में यह निर्णय लिए गए। विस अध्यक्ष ज्ञान चंद गुप्ता की अध्यक्षता में हुई इस बैठक में मुख्यमंत्री मनोहर लाल, उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला, संसदीय कार्य मंत्री कंवर पाल, गृह मंत्री अनिल विज, नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र सिंह हुड्‌डा, विधान सभा उपाध्यक्ष रणबीर गंगवा उपस्थित रहे। इसके बाद सर्वश्रेष्ठ विधायक के चयन के लिए एक विशेष कमेटी की बैठक भी आयोजित की गई। कमेटी ने गन्नौर से भाजपा विधायक निर्मल रानी और फरीदाबाद (एनआईटी) से नीरज शर्मा के नामों की अनुशंसा की है। इन दोनों विधायकों को बजट सत्र के पहले दिन 2 मार्च को सम्मानित किया जाएगा। इन्हें सम्मान स्वरूप एक लाख रुपये की नकद राशि, शॉल और स्मृति चिह्न प्रदान किए जाएंगे।

बैठक के बाद पत्रकारों से बातचीत में विधान सभा अध्यक्ष ज्ञान चंद गुप्ता ने बताया कि बजट सत्र से हरियाणा विधान सभा नई परंपराएं शुरू कर रही है। कार्य सलाहकार समिति (बीएसी) ने तय कि 2 मार्च को राज्यपाल के अभिभाषण के साथ सत्र की शुरुआत होगी। इसके बाद 3, 4 और 7 मार्च को इस अभिभाषण पर सदन में चर्चा होगी। 7 मार्च को ही मुख्यमंत्री इस पर अपना जवाब देंगे। अगले दिन 8 मार्च को बजट पेश होगा। इस दिन प्रश्न काल नहीं होगा। 9 से 11 मार्च तक सत्रावकाश रहेगा। 12 और 13 मार्च को शनिवार- रविवार की छुट्टी है। इस दौरान बजट पर विस्तृत अध्ययन के लिए सभी 73 विधायकों की तदर्थ कमेटियां गठित की जाएगी। ये कमेटियां समग्रता से अध्ययन कर अपने सुझाव मुख्यमंत्री को देंगी। 14 से 16 मार्च तक बजट पर व्यापक चर्चा करवाई जाएगी। 17 मार्च को सत्रावकाश रहेगा। 18 से 20 मार्च तक राजकीय अवकाश है। 21 और 22 मार्च के दिन विधायी कामकाज के लिए निर्धारित किए गए हैं। 22 मार्च को ही सत्रावसान होगा।

गौरतलब है कि बजट सत्र को प्रभावी बनाने के लिए विस अध्यक्ष ज्ञान चंद गुप्ता ने व्यापक व्यवस्थाएं करवाई हैं। इस सिलसिले में उन्होंने गत शीतकालीन सत्र से नई परंपरा स्थापित करते हुए कार्य सलाहकार समिति (बीएसी) की बैठक सत्र शुरू होने से एक दिन पहले बुलानी शुरू की है।

कार्य सलाहकार समिति (बीएसी) की बैठक में विधान सभा अध्यक्ष ज्ञान चंद गुप्ता ने कहा कि वे बजट सत्र से शून्यकाल को प्रभावी व्यवस्थित करना चाहते हैं। इसके लिए उन्होंने बीएसी सदस्यों से सुझाव भी मांगे।

विधान सभा अध्यक्ष ज्ञान चंद गुप्ता ने कहा कि बजट सत्र के लिए 493 तारांकित और 242 अतारांकित प्रश्न विधान सभा सचिवालय को प्राप्त हुए हैं। सत्र के पहले 2 दिन के लिए ड्रा निकाला जा चुका है। इसके साथ ही विधायकों ने 2 कार्य स्थगन प्रस्ताव भी प्राप्त हुए हैं।

फोटो कैप्शन

हरियाणा विधान सभा सचिवालय में सोमवार को विस अध्यक्ष ज्ञान चंद गुप्ता की अध्यक्षता में आयोजित कार्य सलाहकार समिति (बीएसी) की बैठक में उपस्थित मुख्यमंत्री मनोहर लाल, उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला, संसदीय कार्य मंत्री कंवर पाल, गृह मंत्री अनिल विज, नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र सिंह हुड्‌डा और विधान सभा उपाध्यक्ष रणबीर गंगवा।

0 comments