आमजन के सपने और आशाओं को पूरा करने वाला है बजट : ओमप्रकाश धनखड़

एमएसपी और मंडियां खत्म करने का दुष्प्रचार करने वालों को बजट में मिला कड़ा जवाब बजट में 50 प्रतिशत लागत मूल्य पर लाभ देना किया गया सुनिश्चित चंडीगढ़, (अदिति) भाजपा प्रदेशाध्यक्ष ओमप्रकाश धनखड़ ने केंद्रीय बजट को 'आत्मनिर्भर भारत' की और कदम बताया। उन्होंने एमएसपी और मंडियां खत्म करने का दुष्प्रचार करने वाले विपक्ष को करारा जवाब देते हुए कहा कि बजट में 50 प्रतिशत लागत मूल्य पर लाभ लेना सुनिश्चित किया गया है। बजट आम आदमी के सपने को साकार करने और आमजन की आशाओं को पूर्ण करने वाला है। भाजपा प्रदेशाध्यक्ष ने बजट पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि बजट में माइक्रो इरीगेशन को बढ़ावा देने के लिए पांच हजार करोड़ का आवंटन किया गया है। 1000 मंडियों को ई-नाम से जोड़ा जा रहा है, मंडियां इंटरनेट से जुड़ेंगी तथा एपीएमसी को एग्री इंडिया फंड में जोड़ा जाएगा, जिससे मंडियां विकसित होंगी और आधुनिक बनेंगी। किसानों को ऋण के लिये 16.5 लाख करोड़ का इंतज़ाम किया गया है। ओमप्रकाश धनखड़ ने कहा कि केंद्रीय बजट में किसान, मध्य वर्ग, गरीब, महिलाओं समेत सभी वर्गों का ख्याल रखा गया है। देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एवं वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कठिन दौर में संतुलित बजट पेश कर हर वर्ग को सौगात दी है। उन्होंने कहा कि कहा इस बजट की मुख्य दिशा आत्म निर्भर भारत है। बजट में हैल्थ को 2 लाख 23 हज़ार करोड़ रुपये दिए है जो 137 प्रतिशत की बढ़ोतरी है। इससे भारत मे विश्वस्तरीय चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध होंगी। इसमें कोविड के वैक्सीन के लिये 35000 करोड़ और देश मे वायरोलॉजी के चार नेशनल इंस्टीट्यूट स्थापित होंगे। उन्होंने कहा कि सरकार ने कृषि विकास को लेकर भी कई बड़ी घोषणाएं की हैं। बजट में किसानों के लिए ख़रीद पर आवंटन बढ़ रहा है जिसे पौने दो लाख करोड़ पर पहुंचाया है। दहलन के लिये 10 हज़ार करोड़ दिया गया है। सरकार ने दलहन की खेती करने वाले किसानों के लिए एक बड़ी घोषणा की है। आने वाले समय में दलहन की खरीद में 40 प्रतिशत तक की होगी। इसके साथ ही 1000 करोड़ रुपये कपास के लिये और साथ ही कपास की 10 प्रतिशत कस्टम ड्यूटी बढ़ाई गई, जिससे हमारे घरेलू किसानों को फ़ायदा होगा। धनखड़ ने कहा कि एपीएमसी को एग्री इंफ़्रा फंड से जोड़ा जाएगा वही फार्म क्रेडिट के लिए 16.5 लाख करोड़ है। सरकार किसानों की उपज खरीदने पर भी जोर देगी। बजट में धान की खेती करने वाले किसानों को बड़ा तोहफा देते हुए 1.7 लाख करोड़ रुपये की राशि धान किसानों को भुगतान करने की घोषणा की है। धनखड़ ने बताया कि ग्रामीण ढांचागत सुविधाओं के लिये 40 हज़ार करोड़ खर्च होंगे और रेल व सड़कों के लिए 1 लाख 18 हज़ार करोड़ का आवंटन किया गया है। इसके साथ ही सौर ऊर्जा के लिए 1000 करोड़, जल जीवन मिशन 2 लाख 87 हज़ार करोड़, स्वच्छ हवा के लिये 2217 करोड़ का प्रावधान किया गया है। बजट में बुजर्गों का भी पूरा ख्याल रखा गया है जिसमें 75 वर्ष से अधिक आयु के बुजर्गों को आय कर रिटर्न से मुक्त करना शामिल है।

 Global Newsletter

  • Facebook
  • social-01-512
  • Twitter
  • LinkedIn
  • YouTube