किसान अब 15 मार्च तक अपलोड करवा सकते है कृषि यंत्रों के बिल

चंडीगढ़ (गुरप्रीत) कृषि एवं कल्याण विभाग ने स्मैम स्कीम 2020-21 के तहत प्रदेश के किसानों को विभिन्न कृषि यंत्रों पर अनुदान प्रदान करने के लिए कृषि यंत्रों के बिलों को विभागीय पोर्टल पर अपलोड करने का एक और अवसर प्रदान किया है। सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि जिन किसानों ने 18 फरवरी 2021 तक विभागीय पोर्टल पर आनलाईन आवेदन किए थे, उन सभी के आवेदन सरकार ने स्वीकार कर लिए हैं। ऐसे सभी पात्र किसानों को 27 फरवरी 2021 तक अपने ई-वे बिल, स्वयं घोषणा पत्र व जीपीएस लोकेशन वाली मशीन के साथ स्वयं की रंगीन फोटो विभागीय पोर्टल पर अपलोड करने का मौका दिया गया था। लेकिन जो किसान किसी कारणवश निर्धारित तिथि तक अपने बिल अपलोड नहीं करवा पाए, उन्हे एक और मौका देते हुए बिल अपलोड करने की तिथि 15 मार्च 2021 तक बढ़ाई गई है। उन्होंने कहा कि जो किसान निश्चित तिथि तक बिल अपलोड कर देंगे, ऐसे किसानों के बिलों एवं कृृषि यन्त्रों के सत्यपान का कार्य करने के लिए जिला स्तर पर तुरंत प्रभाव से शैडयूल जारी किया जाएगा ताकि चालू वित वर्ष में ही उन्हें कृषि यंत्रों का लाभ प्रदान किया जा सके। उन्होंने कहा कि सरकार के आदेशानुसार मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल पर पंजीकरण के बाद किसानों को फसल बेचने या अन्य आने वाली समस्याओं का निराकरण के लिए उपायुक्तों की अध्यक्षता में जिलास्तरीय कमेटियों का गठन किया गया है। मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल पर रबी की फसलों को बेचने के लिए किसान अपना पंजीकरण करवा रहे हैं। इसमें किसानों को अपना बैंक खाता, भूमि का सही विवरण, ऐच्छिक मंडी, फसल बेचने की अवधि इत्यादि ब्यौरा अपलोड करवाना है। इसके बाद किसानों को फसल बेचने में कोई परेशानी आती है या अन्य किसी प्रकार की शिकायत है तो वह जिलास्तरीय कमेटी के समक्ष अपनी समस्या रख सकते हैं ।

 Global Newsletter

  • Facebook
  • social-01-512
  • Twitter
  • LinkedIn
  • YouTube