कोरोना टेस्ट हुआ सस्ता

चंडीगढ़, (अभिनव कालरा)- हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल कट्टर ने कहा कि प्रदेश सरकार ने कोरोना वायरस का टेस्ट अब 2400 रुपये में करवाने का निर्णय लिया है। ये संशोधित दरें तुरंत प्रभाव से लागू होंगी।प्रदेश सरकार ने निर्देश जारी किए हैं कि कोई भी निजी प्रयोगशाला कोविड-19 के लिए आरटी-पीसीआर टेस्ट के लिए 2400 रुपये से ज्यादा शुल्क नहीं लेगी। जीएसटी/ कर सहित, यदि कोई हो, तो हरियाणा में सैंपल, डॉक्यूमेंटेशन और रिपोर्टिंग की पिकअप पैकिंग और परिवहन में शामिल लागत इस 2400 रुपये में शामिल होगी। हालांकि, हरियाणा में आईसीएमआर के दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए प्रदेश में कोविड-19 के टेस्ट निजी प्रयोगशालाओं के माध्यम से करवाए जा रहे थे, जिसकी पहले कीमत 4500 रूपये प्रति टेस्ट थी। इसके अलावा, प्रयोगशालाओं को यह भी निर्देश दिए गए हैं कि वे टेस्ट की दरों को सही तरीके से प्रदर्शित करें। उन्होंने बताया कि प्राइवेट प्रयोगशालाओं को कोविड-19 टेस्ट सम्बन्धित परिणाम के रियल टाइम के अनुसार डाटा राज्य सरकार व आईसीएमआर के साथ सांझा करना होगा। इसके लिए आईएमसीआर के पोर्टल तथा हरियाणा सरकार के पोर्टल पर जानकारी देनी होगी। प्रवक्ता ने बताया कि जिस व्यक्ति का टेस्ट किया जाएगा, उसके तथा सैंपल लेते समय, व्यक्ति की पहचान, पता और सत्यापित मोबाइल नंबर, को सैंपल रेफरल फॉर्म (एसआरएफ) के अनुसार रिकॉर्ड के लिए नोट किया जाए। नमूना लेने के समय डाटा को आरटी-पीसीआर ऐप पर अपलोड किया जाए। परीक्षण की रिपोर्ट पूरी होने के तुरंत बाद रोगी को सूचित किया जाना चाहिए। कोरोना पॉजिटिव टैस्ट पाए जाने पर सम्बन्धित प्रयोगशाला को जिला सिविल सर्जन को ई-मेल के माध्यम से सूचित करना होगा। उन्होंने बताया कि सभी उपायुक्तों एवं सिविल सर्जनों को प्रयोगशालाओं पर कड़ी निगरानी रखने और एनएबीएल और आईसीएमआर द्वारा मंजूर प्रयोगशालाओं द्वारा कोविड-19 के टेस्ट के लिए दरों को सख्ती से लागू करने के निर्देश दिए गये हैं। इसके लिए व्यापक प्रचार-प्रसार करने के भी निर्देश दिए गए हैं। प्रवक्ता ने बताया कि कोविड-19 महामारी से निपटने के लिए राज्य सरकार विभिन्न उपाय कर रही है। प्रदेश सरकार सरकार राज्य के अस्पतालों में नि: शुल्क टेस्ट और उपचार प्रदान कर रही है।

 Global Newsletter

  • Facebook
  • social-01-512
  • Twitter
  • LinkedIn
  • YouTube