कोरोना संकट में लोगों को दोहरी मार झेलनी पड़ रही-सैलजा

चंडीगढ़, (गुरप्रीत) हरियाणा कांग्रेस अध्यक्ष कुमारी सैलजा ने कहा कि कोरोना संकट में लोगों को दोहरी मार झेलनी पड़ रही है। पेट्रोल-डीजल के दामों में लगातार हो रही बढ़ोतरी ने आम आदमी की कमर तोड़ दी है। गरीब, श्रमिक, दुकानदार, मध्यम वर्गीय परिवार, किसान, छोटे व मध्यम व्यवसायी और बड़ी संख्या में बेरोजगार हुए लोग इस कठिन आर्थिक मंदी और महामारी में अपने जीवनयापन के लिए संघर्ष कर रहे हैं। वहीं इस बेरहम सरकार द्वारा पेट्रोल-डीजल के दामों में लगातार वृद्धि कर देशवासियों से जबरन वसूली की जा रही है। हरियाणा कांग्रेस अध्यक्ष कुमारी सैलजा ने यह बातें करनाल में कहीं। सोमवार को भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के निर्देशानुसार पेट्रोल-डीजल की कीमतों में हो रही बेतहाशा वृद्धि को लेकर केंद्र सरकार के खिलाफ पूरे हरियाणा प्रदेश में धरने प्रदर्शन आयोजित किए गए थे। इसी कड़ी में कुमारी सैलजा ने करनाल के सेक्टर-12 में आयोजित धरना प्रदर्शन का नेर्तत्व किया। इस दौरान कुमारी सैलजा पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों के खिलाफ कांग्रेस के अन्य नेताओं के साथ धरना स्थल से बैलगाड़ी पर सवार होकर लघु सचिवालय पहुंची और अपना विरोध दर्ज करवाया। उन्होंने लघु सचिवालय में जिला उपायुक्त को राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपा। कुमारी सैलजा ने पेट्रोल-डीजल के दामों में हो रही वृद्धि को लेकर किसानों, टेंपो चालकों और आम लोगों से बातचीत कर उनका दुख-दर्द जाना। कुमारी सैलजा ने कहा कि यह सरकार पेट्रोल-डीजल के दामों में वृद्धि कर मुनाफाखोरी कर रही है। जब मई 2014 में भाजपा सत्ता में आई तो पेट्रोल और डीजल पर उत्पाद शुल्क केवल 9.20 रुपये प्रति लीटर और 3.46 रुपये प्रति लीटर पर था, जिसमें पिछले 6 साल में पेट्रोल पर 23.78 प्रति लीटर और डीजल पर 28.37 रुपए प्रति लीटर की बढ़ोतरी भाजपा सरकार द्वारा की गयी है। जब केंद्र में कांग्रेस की सरकार थी, उस वक्त अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम आसमान छू रहे थे, लेकिन इसके बावजूद कांग्रेस सरकार ने पेट्रोल-डीजल की कीमतों को नियंत्रण में रखा था। आज कच्चे तेल का अंतर्राष्ट्रीय भाव 40 अमेरिकी डॉलर प्रति बैरल से भी नीचे हैं। जिसके हिसाब से कुल लागत 20 रुपए प्रति लीटर से बहुत कम पड़ रही है। लेकिन आज पेट्रोल-डीजल को 80 रुपये प्रति लीटर से ज्यादा दामों पर बेचा जा रहा है। पिछले 23 दिनों में ही पेट्रोल 9.17 रुपये प्रति लीटर और डीजल 11.23 रुपये प्रति लीटर महंगा हुआ है। इस बेतहाशा वृद्धि ने देशवासियों के लिए महामारी के इस दौर में बड़ी मुसीबत पैदा कर दी है। कई स्थानों पर डीजल के दाम पेट्रोल के दामों से आगे निकल चुके हैं। महंगा डीजल होने से किसानों पर बुवाई के इस सीजन में सीधी मार पड़ रही है। उन्होंने प्रदेश की भाजपा-जजपा सरकार पर भी निशाना साधते हुए कहा कि अभी कुछ दिनों पहले लॉकडाउन के बीच ही प्रदेश की सरकार ने भी पेट्रोल पर एक रुपए प्रति लीटर और डीजल पर एक रुपए 10 पैसे प्रति लीटर वैट में बढ़ोतरी की थी। इसके साथ ही प्रदेश सरकार द्वारा रोडवेज बसों के किराए में भी वृद्धि की गई। कुमारी सैलजा ने कहा कि इस महामारी के दौरान लोग उम्मीद कर रहे थे कि यह सरकार उन्हें कुछ राहत प्रदान करेगी। लेकिन इस सरकार ने पहले राहत पैकेज के नाम पर देशवासियों के साथ छल किया, फिर अब लगातार बेरहम तरीके से यह वृद्धि कर सरकार आम लोगों को लूट रही है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी सरकार की जन विरोधी नीतियों के खिलाफ पूरी मजबूती से देशवासियों के साथ खड़ी है और इस सरकार को अपनी जनविरोधी नीतियों पर झुकना ही पड़ेगा। सरकार तुरंत पेट्रोल-डीजल की बढ़ी कीमतों को वापस ले। कुमारी सैलजा ने हरियाणा प्रदेश में टिड्डियों के हमले से फसलों को पहुंचे नुकसान को लेकर भाजपा-जजपा सरकार पर समय रहते हुए इससे निपटने की तैयारी ना करने का आरोप लगाया। उन्होंने हरियाणा सरकार से मांग करते हुए कहा कि जिन किसानों की फसलों को नुकसान पहुंचा है, उन्हें बिना विलंब किए मुआवजा दिया जाए। कुमारी सैलजा ने प्रदेश में उद्योग-धंधे चौपट होने और बेरोजगारी बढ़ने को लेकर सरकार को सीधे तौर पर जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा कि किसानों के साथ-साथ आज प्रदेश के युवा भी इस सरकार से निराश हो चुके हैं। प्रदेश की बेरोजगारी दर लगातार बढ़ रही है, जो रोजगार लोगों के पास था, वह भी खत्म हो रहा है। इस सरकार के नाकारापन के कारण उद्योग-धंधे बर्बाद हो चुके हैं। सरकारी नौकरियों में सरकार द्वारा नई-नई शर्तें थोप कर प्रदेश के युवाओं को प्रताड़ित किया जा रहा है। अब सरकार के द्वारा कहा जा रहा है कि ग्रुप डी में जॉइनिंग के बाद 5 साल तक किसी अन्य सरकारी नौकरी के लिए आवेदन नहीं किया जा सकता। इससे बड़ी संवेदनहीनता क्या हो सकती है कि ऐसे संकट के समय हजारों कच्चे कर्मचारियों को इस सरकार के द्वारा नौकरी से निकाला जा रहा है। इस दौरान विधायक शमशेर सिंह गोगी, कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव वीरेंद्र सिंह राठोर, प्रदेश महिला कांग्रेस की कार्यकारी अध्यक्ष सुधा भारद्वाज, पूर्व मंत्री भीम सेन मेहता, पूर्व विधायक सुमिता सिंह, पूर्व विधायक बंताराम, पूर्व विधायक रिशाल सिंह, पार्टी के वरिष्ठ नेता त्रिलोचन सिंह, नवजोत कश्यप, ललित बुटाना, रामशरण भोला, राजिंदर कल्याण, राजेंद्र बलाह समेत बड़ी संख्या में पार्टी नेता व कार्यकर्ता मौजूद रहे।

 Global Newsletter

  • Facebook
  • social-01-512
  • Twitter
  • LinkedIn
  • YouTube