नशे के खिलाफ छेडे अभियान में इस साल 6 माह में 11.5 टन मादक पदार्थ जब्त

चंडीगढ़, (अदिति ) - हरियाणा को पूरी तरह से नशामुक्त राज्य बनाने की सरकार की प्रतिबद्धता के अनुरूप, पुलिस द्वारा मादक पदार्थ तस्करों पर शिकंजा कसने की प्रक्रिया लगातार जारी है। ड्रग माफिया के मंसूबो को ध्वस्त करने के लिए की गई कार्रवाई के तहत 2020 के प्रथम 6 माह में भारी मात्रा में 11.5 टन नशीला पदार्थ जब्त किया गया है। पुलिस ने मादक पदार्थ अधिनियम के तहत इस साल जून तक, कुल 1343 मामले दर्ज किए, जिसमें 1821 लोगों को नशा तस्करी और ड्रग्स रखने के आरोप में गिरफ्तार किया गया। पुलिस महानिदेशक (डीजीपी), हरियाणा, श्री मनोज यादव ने आज इस संबंध में खुलासा करते हुए बताया कि इस वर्ष जनवरी से जून के बीच कुल 11568 किलोग्राम 680 ग्राम मादक पदार्थ जब्त किया गया। उन्होंने कहा कि हरियाणा पुलिस ने गृह मंत्री श्री अनिल विज के कुशल मार्गदर्शन में मादक पदार्थों की तस्करी को रोकने के लिए कई अहम कदम उठाए हैं, जिसमें ड्रग माफिया के बारे जानकारी के आदान-प्रदान के लिए अंतर-राज्यीय सहयोग में वृद्धि करना शामिल है। उन्होने कहा कि पुलिस ने ड्रग के खतरे से लड़ने के लिए एक बहु-आयामी रणनीति पर काम किया, जिसके परिणामस्वरूप स्पेशल टास्क फोर्स सहित सभी फील्ड यूनिट ने नशा कारोबारियों द्वारा राज्य में नशा सप्लाई के लगभग सभी प्रकार के मंसूबों को पूरी तरह से ध्वस्त कर दिया गया। डीजीपी ने बताया कि इस अवधि में सर्वाधिक 8043.2 किलोग्राम चूरा पोस्त बरामद किया गया। इसी प्रकार, पुलिस ने गिरफ्तार आरोपियों के कब्जे से 3150 किलोग्राम 96 ग्राम गांजा, 243 किलोग्राम 436 ग्राम अफीम, 102 किलो 946 ग्राम चरस/सुल्फा, 2 किलो 568 ग्राम स्मैक तथा 25 किलो 568 ग्राम हेरोइन भी जब्त की गई। इसके अतिरिक्त, प्रतिबंधित दवाओं की श्रेणी में आने वाली 10 लाख 40 हजार से अधिक गोलियां , कैप्सूल, इंजेक्शन और सिरप बरामद किए गए। एनडीपीएस अधिनियम के तहत दर्ज कुल मामलों में, 563 अभियुक्तों की गिरफ्तारी के साथ सर्वाधिक 401 मामले जिला सिरसा में दर्ज किए गए। इसी प्रकार, फतेहाबाद में 163 मामले, कुरुक्षेत्र में 81 और हिसार में 77 मामले दर्ज हुए। डीजीपी ने कहा कि अवैध ड्रग्स का हमारे समाज में कोई स्थान नहीं है। हम मादक पदार्थ के खतरे से लोगों विशेषकर युवाओं को बचाने के लिए नशा माफिया के खिलाफ अपनी कार्रवाई को निरंतर जारी रखेंगे। इसके साथ-साथ, पुलिस द्वारा नशे के खिलाफ जागरूकता अभियान चलाकर नागरिकों को नशीली दवाओं के दुरुपयोग बारे भी शिक्षित किया जा रहा है।

 Global Newsletter

  • Facebook
  • social-01-512
  • Twitter
  • LinkedIn
  • YouTube