पंचायत पुस्तकालय स्थापित करने के प्रोजेक्ट को मंजूरी

चंडीगढ़ (अदिति) हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने प्रदेश में जिला मुख्यालयों और गांवों में पुस्तकालय स्थ‌ापित करने की अपनी प्रतिबद्धता को दोहराते हुए आज ग्राम स्वराज अभियान के तहत पंचायत पुस्तकालय स्थापित करने के प्रोजेक्ट को मंजूरी प्रदान की है। इसके प्रथम चरण में महाग्राम योजना के अंतर्गत आने वाले गांवों में पुस्तकालय स्थ‌ापित किए जाएंगे। इन पुस्तकालयों से जहां एक ओर ज्ञान का विस्तार होगा, वहीं प्रदेश के युवाओं में पढ़ाई के प्रति रूचि भी बढ़ेगी। यह निर्णय आज यहां मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में पुस्तकालय स्थापित करने के संबंध में हुई एक बैठक में लिया गया। मुख्यमंत्री ने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए कि गांवों में पुस्तकालय स्थापित करने के लिए पंचायत सदस्यों को भी शामिल किया जाए। साथ ही, गांव से शिक्षा क्षेत्र से जुड़े एक सेवानिवृत्त व्यक्ति और डिफेंस से सेवानिवृत्त लोगों को भी जोड़ा जाए। इससे सरकारी योजनाओं में आमजन की भागीदारी को भी बढ़ावा मिलेगा। इसके अलावा, उन्होंने निर्देश दिए कि पुस्तकालयों में दी जाने वाली सुविधाओं जैसे कंप्यूटर, ‌पुस्तकों की संख्या और पुस्तकालय में पढ़ाने वालों की संख्या इत्यादि के आधार पर एक ग्रेडिंग सिस्टम तैयार किया जाए। उन्होंने निर्देश दिए कि इस प्रोजेक्ट के लिए उच्चतर शिक्षा विभाग नोडल विभाग होगा, जो निरंतर प्रोजेक्ट की प्रगति की समीक्षा करेगा। उन्होंने कहा कि स्कूल शिक्षा, उच्चतर शिक्षा विभाग या अन्य विभागों के अलावा निजी संस्थाओं या व्यक्तिगत तौर पर चलाए जा रहे पुस्तकालयों का सर्वे करवाया जाए। इसके अलावा, उन्होंने स्कूल शिक्षा विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि स्कूल पुस्तकालय को स्कूल की अवधि के बाद और अवकाश के दिनों में आम नागरिकों के लिए उपयोग करने की संभावनाएं तलाशी जाएं। बैठक में स्कूल शिक्षा और उच्चतर शिक्षा विभाग की ओर से वर्तमान में स्कूलों और कॉलेज परिसरों में संचालित पुस्तकालयों की भी जानकारी दी गई। बैठक में यह भी बताया गया कि उच्चतर शिक्षा विभाग द्वारा 20 जिलों में सार्वजनिक स्थानों पर पुस्तकालय चलाए जा रहे हैं। इन पुस्तकालयों को ‌डिजिटलाइज किया जा चुका है, जिनमें ई-बुक्स भी उपलब्‍ध करवाई जा रही हैं। इसके अलावा, दिव्यांगजनों के लिए ब्रेल लिपि में भी पुस्तकें उपलब्‍ध हैं। इस अवसर पर राष्ट्रीय पुस्तक न्यास, भारत के प्रबंध निदेशक ले‌फ्टिनेंट कर्नल युवराज मलिक ने पुस्तकालय पर प्रस्तुतीकरण किया और मुख्यमंत्री को कुछ पुस्तकें भेंट की। बैठक में स्कूल शिक्षा विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री महावीर सिंह, विकास एवं पंचायत विभाग के प्रधान सचिव श्री सुधीर राजपाल, मुख्यमंत्री के उप प्रधान सचिव श्री अमित कुमार अग्रवाल, उच्चतर शिक्षा विभाग के महानिदेशक श्री अजीत बालाजी जोशी, मुख्यमंत्री कार्यालय में सलाहकार श्री योगेंद्र चौधरी एवं श्री रजनीश सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

 Global Newsletter

  • Facebook
  • social-01-512
  • Twitter
  • LinkedIn
  • YouTube